भारत में बढ़ा कोरोना वायरस का खौफ़, भगवान तक को पहनाया गया MASK

2020-03-12T17:52:13.253

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
कोरोना वायरस, हर जगह इसका खौफ़ देखने को मिल रहा है। चीन से निकला ये वायरस भारत में दाख़िल हो चुका है। यही कारण है हर कोई इससे अपने आप को बचाने में लगा हुआ है। बल्कि देश में जगह-जगह इसे बचने के लिए कोई तरह के कैंप लगाए जा रहे हैं, जिसमें लोगों को इसके प्रति जागरूक किया जा रहा है। मगर क्या आप जानते हैं इस वायरस के कहर से चलते लोगों ने अपने भगवान को भी मास्क पहनाना शुरू कर दिया है। जी हां, आपको शायद जानकर अजीब लगे। लेकिन ये सच है। अब अगर देखा जाए तो इसे भक्तों की अपनी भगवान के प्रति श्रद्धा कहा जा सकता है। अब भला जो खुद भगवान हैं उन्हें किसी बीमारी का कैसा डर। मगर यहां लोगों के श्रद्धा को भी नज़रअंदाज़ नहीं किया जा सकता है। इसी को ध्यान में रखते हुए यहां हम आपको बता रहे हैं काशी से जुड़ी एक रोचक खबर। आपको जानकर हैरान होगी कि काशी में बाबा विश्वनाथ को कोरोना से चलते मास्क पहना दिया गया है। 
PunjabKesari, Corona virus, Corona, Shivlinga Wear Mask in Kashi, Lord Shiva, पहलादेश्वर महादेव मंदिर, Pahladeshwar Mahadev Temple, Dharmik Sthal, Religious Place in india, Hindu Tirth Sthal
लोग न केवल अपने लिए बल्कि अपने भगवान के लिए भी डर गए हैं। कहने का अर्थ है जहां एक तरफ़ लोगों से एहतियातन उपाय करने की सलाह दी जा रही है, वहीं वाराणसी में भगवान शिव को मास्क पहना दिया गया है। इतना ही नहीं यहां इन्हें छूने तक की मनाही कर दी गई है। दरअसल इसका मुख्य कारण है पूरे देश में तेजी से फैल रहा कोरोना वायरसहै। बताया जा रहा है अब तक पूरे देश में कोरोना के 60 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं। तो वहीं बताया ये भी गया है कि वाराणसी के पहलादेश्वर महादेव मंदिर में भगवान शिव को मास्क इसलिए पहनाया गया है ताकि लोगों को जागरूक किया जा सके।
PunjabKesari, Corona virus, Corona, Shivlinga Wear Mask in Kashi, Lord Shiva, पहलादेश्वर महादेव मंदिर, Pahladeshwar Mahadev Temple, Dharmik Sthal, Religious Place in india, Hindu Tirth Sthal
मंदिर के पुजारी का कहना है, जिस तरह गर्मी में मंदिर में ऐसी लगाए जाते हैं और सर्दी में भगवान को गर्म कपड़े पहनाए जात हैं, उसी तरह भगवान शिव को कोरोना वायरस के कारण इस वक्त न छूने की मनाही की जा रही है क्योंकि अगर लोग प्रतिमा को ज्यादा छुएंगे तो वायरस बढ़ने की संभावना बढ़ जाएगी। अर्थात यही कारण है कि यहां आने वाले श्रद्धालु मास्क पहनकर भगवान शिव की पूजा दूर से ही कर रहे हैं। 
PunjabKesari, Corona virus, Corona, Shivlinga Wear Mask in Kashi, Lord Shiva, पहलादेश्वर महादेव मंदिर, Pahladeshwar Mahadev Temple, Dharmik Sthal, Religious Place in india, Hindu Tirth Sthal


Jyoti

Related News