See More

पार्टनर का चुनाव करते वक्त इन 4 बातों को जरूर जान लें...

2020-06-25T18:28:05.527

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
शादी की बात आती है तो सबसे पहले हर कोई इस बात की ओर ध्यान देता है कि क्या लड़का लड़की की कुंडली मिलती है? कुंडली के कितने गुण आपस में मेल खाते हैं? लड़का-लड़की का स्वभाव आपस में कितना मेल खाता है? इसके अलावा इन बातों पर भी गौर फरमाया जाता है कि दोनों के परिवार में कौन-कौन शामिल है। घर-बाहर कैसा है, आदि जैसी बातों पर बहुत ध्यान दिया जाता है।मगर इसके अलावा भी कुछ बातें होती हैं जिन पर प्रत्येक व्यक्ति को ध्यान देना चाहिए। जी हां, मगर क्योंकि इन बातों के बारे में ज्यादातर लोग जानते नहीं है इसलिए कई बार कुछ शादियों हो तो जाती हैं मगर कुछ ही समय बाद उनमें विभिन्न प्रकार के विवाद पैदा होने लगते हैं। तो सवाल ये है ऐसे में व्यक्ति को क्या करना चाहिए। तो बता दें ऐसे में अपनानी चाहिए आचार्य चाणक्य द्वारा बताई गई ये नीतियां। इन्होंने अपने नीतिशास्त्र में बाखूबी इस बारे में बताया है कि शादी करने से पहले प्रत्येक इंसान को किन बातों की ओर ध्यान देना चहिए। 
PunjabKesari, Chanakya Niti In Hindi, Chanakya Gyan, Chanakya Success Mantra In Hindi, चाणक्य नीति सूत्र, chankya niti about marriage
चाणक्य कहते हैं जिस व्यक्ति से शादी करनी हो कभी उसके बाहरली सुंदरता को नहीं देखें बल्कि व्यक्ति के आंतरिक गुणों को देखना चाहिए। चाणक्य का मानना है कि किसी भी व्यक्ति की शारीरिक सुंदरता से कईं महत्वपूर्ण होते हैं उसके संस्कार हैं। इसलिए हमेशा व्यक्ति के संस्कार को परखें।  

प्रत्येक पुरुष को चाहिए कि वे अपनी जीवनसंगिनी का चुनाव करते समय तमाम गुणों में से एक सबसे प्रमुथ धैर्य को खासतौर पर परखें। कहा जाता है धैर्य हर स्त्री का सबसे बड़ा गहना होता है। जिस स्त्री में धैर्य होगा वह स्त्री आपके घर को बहुत आराम से संभाल सकती है।
PunjabKesari, Chanakya Niti In Hindi, Chanakya Gyan, Chanakya Success Mantra In Hindi, चाणक्य नीति सूत्र, chankya niti about marriage
सब जानते हैं कि गुस्सा करना अच्छा नहीं होता। बल्कि ये एक ऐसा स्वभाव है जो किसी भी रिश्ते और परिवार को बर्बाद करने के लिए काफी है। इसलिए ध्यान रखें कि जीवनसाथी का चुनाव करते समय उसके स्वभाव ज़रूर परख लें। 

इसके अलावा शादी से पहले यह देखना चाहिए कि हमारा होने वाला पार्टनर कितना धार्मिक है। चाणक्य का कहना है कि संतुलित जीवन के लिए किसी व्यक्ति का मर्यादा में रहना बहुत जरूरी है और धर्म में विश्वास रखने वाला व्यक्ति ही मर्यादित होता है। 
PunjabKesari, Chanakya Niti In Hindi, Chanakya Gyan, Chanakya Success Mantra In Hindi, चाणक्य नीति सूत्र, chankya niti about marriage


Jyoti

Related News