5 अक्टूबर से राहु का नक्षत्र परिवर्तन 5 राशियों की बढ़ाएगा मुश्किलें!

punjabkesari.in Wednesday, Sep 22, 2021 - 06:29 PM (IST)

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
ज्योतिष शास्त्र में राहु व केतु को  क्रूर व पाप ग्रह माना गया है। इन्हें छाया ग्रह भी कहा जाता है क्योंकि यह सौरमंडल में दिखाई नहीं देते । यानी सौरमंडल में इनका वजूद नहीं है। हमारे जो 9 ग्रह हैं, उनमें सूर्य व चंद्रमा तो साक्षात नजर आते हैं। 5 ग्रहों- बुध, शुक्र , शनि,  गुरु व मंगल को भी टेलिस्कोप से देखा जा सकता है लेकिन राहु और केतु 2 शैडो ग्रह हैं जो दिखाई नहीं देते लेकिन हमारे जीवन को प्रभावित करते हैं। कालसर्प दोष भी यही दोनों ग्रह मिलकर बनाते हैं। राहु भले ही एक क्रूर व पाप ग्रह है, लेकिन यदि राहु कुंडली में मजबूत स्थिति में होता है तो अच्छे परिणाम देता है। रंक से राजा बना देता है लेकिन जब राहु खराब स्थिति में होता है तो राजा से रंक भी बना देता है यानी कपड़े उतरवा लेता है ।

ज्योतिष में राहु ग्रह को किसी भी राशि का स्वामित्व प्राप्त नहीं है। लेकिन मिथुन राशि में यह उच्च होता है और धनु राशि में यह नीच भाव में होता है।  27 नक्षत्रों में राहु आद्रा, स्वाति और शतभिषा नक्षत्रों का स्वामी है। वर्ष 2021 में  राहु का कोई राशि परिवर्तन नहीं है लेकिन राहु नक्षत्र परिवर्तन करेगा।  वर्तमान में राहु 27 जनवरी से रोहिणी नक्षत्र में संचार रहे हैं। अब 5 अक्टूबर को राहु कृत्तिका नक्षत्र में आ जाएंगे।

राहु के नक्षत्र परिवर्तन से 5 राशियों की मुश्किलें बढ़ेंगी, यहां जानिए किन पांचों राशि वालों को सावधान रहना होगा-
इनमें पहली राशि है- वृषभ राशि। राहु वृषभ राशि में पहले से ही विराजमान हैं। इसलिए वृषभ राशि वालों को हर काम विशेष सावधानी से करने की जरूरत है। वृषभ राशि के स्वामी शुक्र है। इसलिए कुछ मामलों में राहु आपके लिए लाभकारी साबित हो सकता है। लेकिन धन संबंधी मामलों में जल्दबाजी न करें।

मिथुन राशि वालों को कुछ मामलों में सावधानी बरतनी होगी। माता-पिता की सेहत का ध्यान रखें। मान-सम्मान में कमी आ सकती है। जीवन में कई उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ सकता है। मानसिक तनाव हो सकता है। फैसले लेने में दिक्कत आएगी। पार्टनर से अनबन हो सकती है।

कन्या राशि वालों के लिए भी राहु के नक्षत्र परिवर्तन शुभ नहीं रहेगा ।। राहु आपके जीवन में तनाव और कलह की स्थिति पैदा कर सकता है। इस दौरान बेवजह खर्च से बचें। सेहत का ध्यान रखें और कर्ज लेने की स्थिति से बचें। इस दौरान आपके कार्य स्थल में भी परिवर्तन हो सकता है।

चौथी राशि है मकर राशि। मकर राशि में शनि वक्री हैं। ऐसे में राहु आपको मिले जुले परिणाम दे सकता है। इस दौरान आप सेहत का ध्यान रखें। वाणी पर काबू रखें और वाद-विवाद की स्थिति से बचें।

पांचवीं राशि कुंभ राशि है। देवगुरु बृहस्पति वक्री अवस्था में आपकी राशि पर संचार कर रहे हैं। राहु आपको मानसिक तनाव दे सकते हैं। शिक्षा और करियर संबंधी मामलों में संघर्ष और मानसिक तनाव की स्थिति बन सकती है। लेकिन राहु के प्रभाव से अचानक धन लाभ भी हो सकता है।

अब जानिए किन 4 राशियों के लिए राहु का नक्षत्र परिवर्तन अच्छे फल लेकर भी आएगा-
मेष राशि वालों को इस गोचर के दौरान अचानक धन लाभ होगा, परिवार में खुशहाली बनी रहेगी। छात्रों के लिए गोचर लाभकारी साबित होगा।

कर्क राशि वालों को राहु के गोचर से कई मामलों में धन लाभ हो सकता है, शत्रु परास्त होंगे। प्रेम के मामलों में सफलता मिल सकती है।

सिंह राशि वालों को इस गोचर के दौरान कार्यक्षेत्र में तरक्की मिल सकती है, नई जॉब की भी स्थिति बन सकती है, नए संपर्कों को विकसित कर सकेंगे, कुछ मामलों में शुभ फलों की प्राप्ति हो सकती है।

तुला राशि वालों के लिए राहु का गोचर हालांकि मानसिक तनाव दे सकता है, लेकिन प्रमोशन के चांस भी बनेंगे और धन लाभ भी होगा।

बता दें वृश्चिक राशि, धनु राशि और मीन राशि वालों के लिए राहु का यह नक्षत्र परिवर्तन सामान्य रहने वाला है। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Jyoti

Related News

Recommended News