Chanakya Niti: अशांति से जूझ रहा है आपका भी मन, तो पल्ले बांध लें ये बातें

2020-09-16T16:31:53.473

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
प्रत्येक व्यक्ति अपने फ्री समय में अपने मनपसंद कार्य करना पसंद करता है। आज कल के समय की बात करें तो लगभग लोग अपना फ्री समय अपने फोन पर बिताकर ही राजी है। कहा जाता है ये सब करने से उन्हें सतुष्टि मिलती है। मगर क्या असली सतुष्टि यही है? 

जी नहीं, आचार्य चाणक्य की मानें तो सुख-शांति तथा मन की संतुष्टि पाने के 2 ऐसे कार्य होते हैं, जिन्हें करने वाला व्यक्ति हमेशा अपने जीवन में सुखी रहता है। तो अगर आपके मन में इस बारे में जानने की लालसा बढ़ रही है तो आपको बता दें हम आपको आगे आर्टिकल में इस बारे में बताने वाले हैं कि आखिर वो कौन से काम होते हैं जिन्हें करने से इंसान को शांति तो प्राप्त होती है साथ-साथ उसका जीवन कई हद तक बेहतर होता है।
PunjabKesari, Chanakya Niti, Acharya Chanakya, Chanakya Shaloka, Chanakya Niti in hindi, Chanakya Gyan, Chanakya Niti About Peace, Niti Gyan, Niti Shastra in Hindi, Chanakya Shaloka In hindi,Chanakya Success Mantra In Hindi,चाणक्य नीति सूत्र
बता दें आचार्य चाणक्य प्राचीन काल के महान कूटनीतिज्ञ तथा नीति शास्त्री माने गएं हैं, जिनकी नीतियां उस समय के साथ-साथ आज के समय में भी अधिक उपयोगी मानी जाती हैं। इनके असीमित ज्ञान के कारण ही इन्हें भारत के श्रेष्ठ विद्वानों में से एक माना जाता है। बताया जाता है ये स्वयं एक योग्य शिक्षक तथा विश्व प्रसिद्ध तक्षशिला विश्व विद्यालय में बच्चों को शिक्षा प्रदान करते थे। तो चलिए जानते हैं इनके नीति सूत्र में बताई गई उन 2 बातों के बारे में- 

आज कल की युवा पीढ़ी में अधिकतर देखने-सुनने को मिलता है कि उनका मन एक जगह टिक नहीं पाता। और जिस का मन स्थिर नहीं होता वह व्यक्ति हमेश अपने जीवन में परेशान ही रहता है। चाणक्य के अनुसार मव को स्थिर करने का सबसे आसान व सटीक उपाय है कि व्यक्ति के पास जो जितना हो वे उसमें खुश रहे और अपने मन में संतुष्टि का भाव रखें।
PunjabKesari, Chanakya Niti, Acharya Chanakya, Chanakya Shaloka, Chanakya Niti in hindi, Chanakya Gyan, Chanakya Niti About Peace, Niti Gyan, Niti Shastra in Hindi, Chanakya Shaloka In hindi,Chanakya Success Mantra In Hindi,चाणक्य नीति सूत्र
चाणक्य के अनुसार जो व्यक्ति अपने जीवन में सुख पाने के लिए इधर-उधर भटकता रहता है उसे यानि मन विचलित रहता है उसे जीवन में सुख कभी प्राप्त नहीं होता। इसलिए प्रत्येक व्यक्ति को अपने मन पर नियंत्रण रखना चाहिए। जिसका मन पर नियंत्रण होता है उसे खुद को संतुष्ट करने के लिए किसी वस्तु की आवश्यकता नहीं होती। 
 

आज कल हर कोई स्वार्थ से भरपूर है। इतना ही नहीं लोग एक-दूसरे की मदद करने की बजाए मजाक उड़ाते हैं। चाणक्य के अनुसार ऐसे लोग कभी जीवन में सुख-शांति प्राप्त नहीं कर पाते। चाणक्य का मानना है कि जितनी हो सके व्यक्ति को दूसरों की मदद करनी चाहिए, तथा समाज कार्यों में अपना योगदान देना चाहिए। शास्त्रों में कहा गया है ऐसे लोगों पर देवी लक्ष्मी की असीम कृपा रहती है, तथा जीवन में सुख-समृद्धि की प्राप्ति होती है।
PunjabKesari, Chanakya Niti, Acharya Chanakya, Chanakya Shaloka, Chanakya Niti in hindi, Chanakya Gyan, Chanakya Niti About Peace, Niti Gyan, Niti Shastra in Hindi, Chanakya Shaloka In hindi,Chanakya Success Mantra In Hindi,चाणक्य नीति सूत्र


Jyoti

Recommended News