इन बातों से बच्चों को रखना चाहिए दूर वरना...

punjabkesari.in Saturday, Aug 14, 2021 - 02:01 PM (IST)

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
आचार्य चाणक्य ने अपने नीति सूत्र में बहुत सी बातें बताई हैं, जिसे अगर मानव जीवन में अपनाया जाता है तो उनका जीवन सुधर जाता है। लगातार अपनी वेबसाइट के जरिए हम आपको चाणक्य नीति सूत्र के कई श्लोक बता चुके हैं। इसी कड़ी में आज एक बार फिर हम आपको बताने जा रहे हैं चाणक्य नीति सूत्र में वर्णित ऐसी बातों के बारे में, जिसमें ये जानकारी दी गई है कि माता-पिता को अपने बच्चों के समक्ष किस तरह की बातें नहीं करनी चाहिए। 

आज कल के समय माता-पिता अपने बच्चों की परवरिश पर खास ध्यान नहीं दे पाते। जिस कारण बच्चों पर कई तरह से गलत प्रभाव पड़ता है। इसी संदर्भ में आचार्य चाणक्य कहते हैं माता-पिता को हमेशा इस बात का ख्याल रखना चाहिए कि उनके बच्चों के सामने कौन सी बात होनी चाहिए कौन सी नहीं। चाणक्य बताते हैं कि माता-पिता से बच्चे हर अच्छी-बुरी बात सीखते हैं। इसलिए उन्हें हमेशा अपने बच्चों को श्रेष्ठ संस्कार प्रदान करने चाहिए। तथा उनके प्रति हमेशा गंभीरता से ध्यान देना चाहिए। 

यहां जानें बच्चों के सामने कौन सी बातें नहीं करनी चाहिए- 

आचार्य चाणक्य कहते हैं कि प्रत्येक माता-पिता को अपने बच्चों के समक्ष कभी भी किसी प्रकार का गलत व्यवहार नहीं करना चाहिए,क्योंकि हर बच्चा अपने जीवन की आधे से ज्यादा बातें अपने मां-बाप से सीखते हैं, ऐसे में अगर माता-पिता किसी प्रकार की ऐसी बात करते या कहते हैं तो उसका सबसे बुरा प्रभाव घर के बच्चों पर पड़ता है। 

प्रत्येक माता-पिता को अपनी भाषा पर खास ध्यान देना चाहिए। चाणक्य कहते हैं कि व्यक्ति की बोली और भाषा उसके बारे में सब कुछ बयां करती है। इसलिए इस पर ध्यान देना  बहुत आवश्यक होता है। जिन बच्चों के माता-पिता उनके सामने कड़वी भाषा व शब्दों का इस्तेमाल करते हैं। उन बच्चों की भाषा भी धीरे-धीरे वैसी ही होने लगती है।  

चाणक्य के अनुसार माता-पिता को आपस में बात करते समय एक-दूसरे को सम्मान देना चाहिए। जो माता-पिता अपने बच्चों के सामने आदर-सम्मान से बात नहीं करते, उने बच्चों पर इसका बेहद बुरा प्रभाव पड़ता है। 

माता पिता को अपने बच्चों के सामने कभी झूठ या दिखावे का प्रदर्शन नहीं करना चाहिए। बल्कि बच्चों को हमेशा इन से दूर ही रखना चाहिए। अन्यथा इससे दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। 
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Jyoti

Related News

Recommended News