वर्धा की तर्ज पर नवा रायपुर में स्थापित होगा 21वीं सदी का सेवा-ग्राम

09/14/2021 8:17:59 PM

रायपुर, 14 सितंबर (भाषा) छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य के नवा रायपुर में महाराष्ट्र के वर्धा की तर्ज पर 21वीं सदी का सेवा-ग्राम स्थापित करने का फैसला किया है।

राज्य के जनसंपर्क विभाग के अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि आजादी के 75वें वर्ष में आजादी की लड़ाई के मूल्यों, सिद्धांतों, आदर्शों तथा महात्मा गांधी की ग्राम-स्वराज की संकल्पना को अक्षुण्ण रखने के लिए नवा-रायपुर में वर्धा की तर्ज पर सेवा-ग्राम की स्थापना की जाएगी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इसके लिए नवा-रायपुर में 75 से 100 एकड़ की जमीन चिन्हांकित करने का निर्देश दिया है।
अधिकारियों ने बताया कि संस्थान में ग्रामीण अर्थव्यवस्था को सुदृढ़ करने और आत्मनिर्भर-ग्राम की कल्पना को साकार करने के लिए सभी प्रकार के कारीगरों के प्रशिक्षण की व्यवस्था का प्रावधान किया जाएगा। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने इस वर्ष दो अक्टूबर से पहले इस संबंध में कार्ययोजना प्रस्तुत करने का निर्देश दिया है।
अधिकारियों ने बताया कि इस परियोजना के पीछे महाराष्ट्र के वर्धा में स्थित सेवाग्राम है, जिसकी स्थापना 1936 में महात्मा गांधी और उनकी पत्नी कस्तूरबा गांधी के निवास के रूप की गई थी।

अधिकारियों ने कहा कि यहां सेवा-ग्राम का निर्माण मिट्टी, चूना, पत्थर जैसी प्राकृतिक वस्तुओं का उपयोग करते हुए किया जाएगा। यह परियोजना गांधी-दर्शन को याद रखने और सीखने की प्रेरणा देगी। साथ ही स्वतंत्रता आंदोलन की यादों और राष्ट्रीय इतिहास को भी इसके माध्यम से जीवंत रखा जा सकेगा।

यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News