समझौते के विपरीत कटौती को लेकर स्वास्थ्य कर्मियों में है भारी रोष

punjabkesari.in Monday, Jan 31, 2022 - 05:30 PM (IST)

चंडीगढ़, (बंसल): स्वास्थ्य कर्मचारियों के पदों में कटौती करने व कार्यरत कर्मचारियों के वेतन रोकने के विरोध में प्रदेश के स्वास्थ्य कर्मी आंदोलन करेंगे। स्वास्थ्य सुपरवाइजर संघ के प्रदेशाध्यक्ष राममेहर वर्मा, महासचिव सतपाल खासा, उप प्रधान सुमित्रा ने बताया कि महानिदेशक स्वास्थ्य सेवाएं हरियाणा डा. वी.के. बंसल की अध्यक्षता में निदेशक स्तर के अधिकारियों की गठित कमेटी व स्वास्थ्य सुपरवाइजर संघ के बीच गत 6 दिसम्बर को हुए लिखित समझौते के विपरीत स्वास्थ्य कर्मचारियों के पदों में कटौती की प्रक्रिया जारी रखने से प्रदेश के स्वास्थ्य कर्मियों में भारी 
रोष है। 


उन्होंने बताया कि देश की जनता एक तरफ तो कोरोना की मार झेल रही है और प्रदेश के बहुउद्देश्यीय स्वास्थ्य कर्मी जी जान से लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाने व होम आईसोलेशन के तहत घर-घर दवाई देकर लोगों की जान बचाने का कार्य कर रहे है, वहीं पर स्वास्थ्य विभाग की प्लाङ्क्षनग शाखा द्वारा समझौते की भावना के विरुद्ध जाकर राज्य के नागरिक अस्पतालों व पी.पी. सैंटर में स्वीकृत महिला स्वास्थ्य सुपरवाइजर व एम.पी.एच.डब्ल्यू. के पदों को एच.आर.एम. पोर्टल पर समाप्त दिखाकर, कार्यरत कर्मचारियों के वेतन रोकने का कार्य किया है। 


उन्होंने बताया कि दिन रात कार्य करने के बावजूद स्वास्थ्य विभाग की प्लाङ्क्षनग शाखा के इस जन व कर्मचारी विरोधी निर्णय के विरोध मे अब स्वास्थ्य कर्मचारी पुन: आंदोलन करेंगे। 


प्रतिनिधिमंडल मंत्री विज को मामले बारे बताएगा
संघ के नेताओं ने बताया कि वेतन रोकने के मामले को लेकर शीघ्र ही एक प्रतिनिधिमंडल प्रदेश स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज को पूरे मामले से अवगत करवाकर नए नोरम के नाम पर समाप्त पदों को बहाल रखने की मांग करेगा। 


कर्मचारी नेताओं ने यह भी बताया कि यदि शीघ्र ही इन जन विरोधी निर्णय को वापस लेते हुए समाप्त पदों को बहाल रखने व रोके गए वेतन को जारी नहीं किया गया तो प्रदेश के स्वास्थ्य कर्मी महानिदेशक कार्यालय पर भूख हड़ताल करेगा।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Avtar Singh

Related News

Recommended News