पी.यू. को लंबे समय से किराया न देने वाले दुकानदार हो सकते हैं निष्कासित!

punjabkesari.in Thursday, Jan 20, 2022 - 12:48 PM (IST)

चंडीगढ़, (रश्मि हंस) : पंजाब यूनिवर्सिटी (पी.यू.) जल्द ही कुछ दुकानदारों को पी.यू. से निष्कासित कर सकती है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक जिन दुकानदारों ने पी.यू. को अब तक कोई किराया नहीं दिया है या लंबे समय से किराया नहीं दे पाए हैं, उन्हें पी.यू. प्रबंधन कभी भी निष्कासित कर सकता है। पी.यू. प्रबंधन ने उन दुकानदारों की लिस्ट भी तैयार कर ली है। इन दुकानदारों में कुछ नए व कुछ पुराने दुकानदार भी शामिल हैं। नियमों के अनुसार जिन दुकानदरों का किराया देना बनता है और उन्होंने बेवजह ही किराया नहीं दिया है,पी.यू. ने उन पर कमान कसने का मन बनाया लिया है। जानकारी है कि जल्द ही पी.यू. प्रबंधन उन दुकानदारों को निष्कासित (एविक्शन) का नोटिस भेज सकता है जो लंबे समय से किराया नहीं दे रहे हैं। पी.यू. प्रबंधन ने ऐसे कई दुकानदारों को चिन्हित कर लिया है। पी.यू. जल्द ही इन दुकानदारों को दुकानें छोडऩे के लिए कह सकता है। 

 

 

मांगों को लेकर बंद रखी थी मार्कीट
पिछले पांच दिनों से बंद पी.यू. की सैक्टर-14 की मार्कीट दोपहर बाद खुल गई। ध्यान रहे कि पी.यू. के सैक्टर-14 की करीबन 60 दुकानें शुक्रवार से लगातार बंद हैं। यह दुकानें दुकानदारों ने स्टूडैंट सैंटर के राज ईटरी के संचालक नीरज की मौत के बाद अपनी मांगों को लेकर बंद कर रखी थीं। पी.यू. प्रबंधन ने कोविड-19 के बढ़ रहे लगातार केसों के कारण 13 जनवरी से 16 जनवरी तक सैंटर को बंद करने के निर्देश दिए थे, जबकि सैक्टर-14 स्थित दुकानों को बंद करने का कोई निर्देश पी.यू. प्रबंधन ने नहीं दिया था। 

 

 

सीनेटर से मिला आश्वासन
 पी.यू. के सैक्टर-14 के दुकान देर शाम बुधवार को भी सीनेटर और  भाजपा नेता से मिले। दुकानदारों ने बताया कि उन्हें सीनेटर ने आश्वासन दिया है कि जो भी उनकी जायज मांगे होंगी, उन्हें पी.यू. प्रंबधन के ध्यान में लागा जाएगा और उन्हें माना जाएगा। 

 


बैठक में दुकानदारों की मांगों को सुलझाने का किया जाएगा प्रयास : डॉ. गौतम  
पी.यू. के डॉ. प्रशात गौतम ने बताया कि दुकानदार की जो भी मांगे हैं, बैठक कर उन्हें सुलझाने की कौशिश की जाएगी।  पी.यू. प्रबंधन यह बात लगातार कह रहा है। कोरोना काल में दुकानदारों को किराए में 10 फीसदी की रिबेट दी गई है। जिन दुकानों को पी.यू. प्रबंधन ने बंद करवाया था, उन्हें किराए से भी छूट भी दी गई है, लेकिन बहुत से दुकानदार ऐसे भी हैं जो लंबे समय से किराया नहीं दे रहे हैं।  ध्यान रहे कि गत शनिवार को पी.यू. प्रबंधन ने दुकानदारों की ऑनलाइन बैठक बुलाई थी, जिसमें दुकानदार शामिल नहीं हुए थे। दुकानदार ऑफलाइन बैठक करने की मांग कर रहे थे। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Ajay Chandigarh

Related News

Recommended News