चंडीगढ़ और मोहाली की आबोहवा खराब कर रहा सीवरेज सिस्टम, एन.जी.टी. ने मांगी स्टेटस रिपोर्ट

09/28/2021 1:32:05 AM

चंडीगढ़, (रमेश हांडा): चंडीगढ़ और मोहाली से गुजरते हुए सीवरेज का गंदा पानी शहर की आबोहवा खराब कर रहा है जिसे सुधारने के लिए संबंधित विभाग ट्रीटमैंट प्लांट लगाने में असफल रहा है।नैशनल गरीब ट्रिब्यूनल (एन.जी.टी.) ने कड़ा संज्ञान लेते हुए चंडीगढ़ और पंजाब के संबंधित विभागों के विशेषज्ञों की सयुंक्त कमेटी की सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के बाद हुई तीन बैठकों की स्टेटस रिपोर्ट मांग ली है। 

 


साथ ही आदेश दिए हैं कि सीवेज लाइनों को चैक करने के बाद, जो 24 प्वाइंट ट्रीटमैंट के लिए सुनिश्चित किए गए हैं, की जानकारी भी दी जाए। ट्रिब्यूनल ने कहा कि यह भी बताया जाए कि चंडीगढ़ और मोहाली में सीवरेज के कारण होने वाले प्रदूषण को काम करने के लिए क्या विकल्प खोजे गए हैं और उन पर कब तक काम पूरा होगा।

 


4 जून के आदेशों का भी उल्लेख किया
उक्त आदेश सुनयना नामक याचिकाकत्र्ता की याचिका पर दिए हैं। याचिका में सुप्रीम कोर्ट के 4 जून को दिए आदेशों का भी उल्लेख किया गया है जिसमें सुप्रीम कोर्ट ने चंडीगढ़ के एडवाइजर और पंजाब के चीफ सैक्रेटरी को आदेश दिए थे कि संबंधित अन्य विभागों के अधिकारियों को साथ लेकर एक ज्वाइंट कमेटी बनाई जाए। सारे मामले की समीक्षा कर दो माह में कोर्ट में स्टेटस रिपोर्ट पेश की जाए। सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के बावजूद ज्वाइंट कमेटी ने रिपोर्ट पेश कर बताया है कि सीवरेज ट्रीटमैंट प्लांट स्थापित करने और सीवरेज के पानी को घग्गर नदी में छोडऩे के बाद सैम्पल भी लिए जा रहे हैं। चंडीगढ़ और पंजाब ने इस संबंध में 30 अक्तूबर तक स्टेटस रिपोर्ट पेश करने के लिए कहा है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

ashwani

Recommended News