‘सी एंड डी प्लांट की क्षमता बढ़ाने के लिए मशीनरी को जल्द किया जाए उन्नत : मित्रा’

09/11/2021 1:24:14 AM

चंडीगढ़, (राय) : नगर निगम कमिश्नर अनिंदिता मित्रा ने शुक्रवार को इंडस्ट्रीयल एरिया स्थित सी एंड डी वेस्ट प्लांट का दौरा किया। निगम कमिश्नर ने संबंधित इंजीनियरों को यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए कि 150 मीट्रिक टन का सी एंड डी वेस्ट प्लांट प्रतिदिन पूरी क्षमता से कार्य करे। उन्होंने यह भी कहा कि क्षमता को अधिकतम करने के लिए मशीनरी को बहुत जल्द उन्नत किया जाए ताकि निगम के अधिकांश कार्यों को इस प्लांट से सामग्री का उपयोग करके निष्पादित किया जा सके। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि शहर के कुछ हिस्सों में जागरूकता पैदा करने की जरूरत है जहां से मैटीरियल रिकवरी फैसिलिटी (एम.आर.एफ.) स्टेशनों में अभी भी मिश्रित रूप में कचरा आ रहा है।

 


एम.आर.एफ. सैंटर का दौरा किया
निगम कमिश्नर ने 3 बीआरडी और औद्योगिक क्षेत्र फेज-1 में मैटीरियल रिकवरी फैसिलिटी सैंटर का दौरा किया, जहां ज्वाइंट कमिश्नर ने उन्हें केंद्र के कामकाज से अवगत कराया। उन्होंने बताया कि डोर टू डोर कचरा संग्रहण वाहन एम.आर.एफ. में अलग-अलग डिब्बों में अलग-अलग कचरा यानी सूखा और गीला कचरा लाते हैं, जिसमें कागज, कार्ड, रिसाइकिल प्लास्टिक, कांच की बोतलों जैसी विभिन्न श्रेणियों में पुनप्र्राप्त करने योग्य सूखे कचरे को छांटने के लिए समर्पित स्थान है। रिसाइकिल योग्य सामग्री की वसूली के बाद बचे सूखे कचरे को सैक्टर-25 स्थित डड्डूमाजरा स्थित कंपोस्ट प्लांट में विशाल कम्पैक्टरों में जमा किया जा रहा है।


वाटर वक्र्स की कार्यप्रणाली देखी
वहीं, इसके अलावा चंडीगढ़ नगर निगम की कमिश्नर ने सीवरेज ट्रीटमैंट प्लांट, 3 बीआरडी का भी दौरा किया। उन्होंने चंडीगढ़ में अपशिष्ट जल प्रबंधन प्रणाली की समीक्षा की, जहां उन्हें मुख्य अभियंता द्वारा एसटीपी में प्राप्त सीवेज के उपचार के बारे में जानकारी दी गई। आयुक्त ने सैक्टर 39, चंडीगढ़ में जल कार्यों का भी दौरा किया और उन्हें मुख्य अभियंता द्वारा अवगत कराया गया कि कजौली वाटर वक्र्स से 87 एम.जी.डी. नहर का पानी प्राप्त हुआ और आगे निर्धारित पैटर्न के अनुसार वितरित किया गया।  


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

ashwani

Recommended News