अजीत बालाजी और उनकी पत्नी को चाहिए पंजाब कैडर

10/13/2020 10:45:43 PM

चंडीगढ़,  (संदीप): पंजाब कैडर में ट्रांसफर किए जाने को लेकर चंडीगढ़ के पूर्व डी.सी. अजीत बालाजी जोशी और उनकी पत्नी गौरी पराशर जोशी ने कैट (केंद्रीय प्रशासनिक न्यायाधिकरण) में याचिका दायर की थी। दायर याचिका पर कैट ने आंशिक मंजूरी दे दी है। कैट ने केंद्र के पर्सनल एंड ट्रेनिंग डिपार्टमैंट के साथ उड़ीसा, हरियाणा और पंजाब सरकार को दोनों याचिकाकत्र्ताओं की उन्हें पंजाब कैडर में भेजे जाने की मांग पर विचार करने का आदेश दिया है। कैट की डबल बैंच के सदस्य संजीव कौशिक और अजंता दयालन ने यह फैसला सुनाया है।
याचिका में कहा था, शादीशुदा आई.ए.एस. इच्छानुसार कैडर ले सकते हैं
दोनों की तरफ से कैट में दायर की गई याचिका में दलील दी कि उनकी शादी 28 जून, 2010 को हुई थी। दोनों की तरफ से पेश हुए वकील पंकज जैन ने बताया कि नियमों के मुताबिक शादीशुदा आई.ए.एस. अधिकारी (पति-पत्नी) अपनी इच्छा के मुताबिक एक कैडर ले सकते हैं। बताया कि 29 जून, 2010 को गौरी पराशर ने उड़ीसा सरकार से उनका कैडर हरियाणा कैडर में ट्रांसफर करने की मांग की थी जिसके लिए उड़ीसा सरकार ने एन.ओ.सी. दे दी थी। इसके साथ ही उन्होंने केंद्र सरकार को रिप्रजेंटेशन दी कि अगर किसी वजह से गौरी पराशर का हरियाणा कैडर में ट्रांसफर नहीं किया जा सकता तो उन दोनों को पंजाब कैडर में ट्रांसफर कर दिया जाए, लेकिन उडीसा सरकार से मंजूरी मिलने के बावजूद केंद्र सरकार ने उनकी मांग को 29 नवम्बर, 2010 को खारिज कर दिया। इसके बाद वर्ष 2011 में दोनों ने दोबारा केंद्र सरकार के सामने रिप्रजैंटेशन देते हुए बताया कि बालाजी जोशी को हरियाणा में काम करने का अनुभव है और शादी हो जाने की वजह से उन्हें अब उनकी पत्नी का ट्रांसफर करवाना है। इसके बाद हरियाणा और उडीसा सरकार ने दोनों की एन.ओ.सी. भी केंद्र सरकार को भेज दी। 

 


पंजाब सरकार ने भी दोनों को लेने की इच्छा जताई
वहीं पंजाब सरकार ने भी दोनों आई.ए.एस. अधिकारियों को पंजाब कैडर में लेने की इच्छा जाहिर की, लेकिन केंद्र सरकार नहीं मानी और नागालैंड में ट्रांसफर करने का प्रस्ताव रखा, जिसके लिए दोनों याचिकाकत्र्ता तैयार नहीं थे। इसके बाद दोनों ने कैट में याचिका दायर की थी।

चंडीगढ़ में 3 साल डी.सी. रहे
मूल रूप से महाराष्ट्र निवासी अजीत बालाजी जोशी हरियाणा कैडर के 2003 बैच के आई.ए.एस. अधिकारी हैं और डायरैक्टर जनरल ऑफ हायर एजुकेशन की पोस्ट पर कार्यरत हैं। उन्होंने चंडीगढ़ में बतौर डी.सी. पद पर अक्तूबर 2015 में ज्वाइन किया था और अक्तूबर 2018 तक यहां कार्यरत रहे चुके हैं। वहीं उनकी पत्नी गौरी पराशर जोशी मूल रूप से हरियाणा की रहने वाली हैं और उड़ीसा कैडर की 2009 बैच की आई.ए.एस. अधिकारी हैं। गौरी इस समय मसूरी स्थित लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी में डिप्टी डायरैक्टर पद पर तैनात है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

ashwani

Recommended News