18 अक्तूबर से खुलेंगे चंडीगढ़ के सभी स्कूल

10/13/2021 7:44:51 PM

चंडीगढ़, (आशीष): शहर में कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के बीच प्रशासन ने फैसला कर लिया है कि 18 अक्तूबर से चंडीगढ़ के सभी स्कूल व शैक्षाणिक संस्थान खोल दिए जाएं। बुधवार को बैठक में चर्चा के बाद प्रशासन ने स्कूल खोलने के शिक्षा विभाग के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। बैठक में चर्चा के दौरान सहमति बनी कि कोविड प्रोटोकॉल की पालना करते हुए तथा सावधानियां बरतते हुए शिक्षण संस्थाएं खोल दी जाएं। शिक्षा विभाग ने 18 अक्तूबर से स्कूल खोलने की तैयारियां की हैं। इसके  लिएएस.ओ.पी. जारी कर दी गई है। 
शिक्षा विभाग पहले ही 5वीं से 12वीं कक्षा के लिए स्कूल खुलने की अनुमति दे चुका है, लेकिन स्कूलों में बच्चे नामात्र ही पहुंच रहे हैं। ना तो सरकारी और ना ही प्राइवेट स्कूलों में अधिक बच्चे कक्षाओं में पहुंच रहे हैं। लॉकडाऊन के 576 दिनों के बाद नर्सरी से सभी बढ़ी कक्षाओं के बच्चे 18 अक्तूबर से स्कूल पहुंचेंगे। डायरैक्टर स्कूल एजुकेशन पालिका अरोड़ा ने बताया कि केन्द्र और प्रशासन की ओर से सीनियर कक्षाओं के लिए गाइडलाइंस बनाई गई है, उनको फालो करते हुए जूनियर कक्षाओं को खोलने का निर्णय लिया गया है।  

इस साल खोले गए स्कूल
19 जुलाई को 9वीं से 12वीं कक्षा के सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों को खोला गया।
9 अगस्त से 7वीं और 8वीं कक्षा के लिए स्कूल खोले गए। 
2 सितम्बर से 5वीं और छठी कक्षा के लिए स्कूल खोले गए। 
बड़ा सवाल : अधिकारियों से मिलने के लिए वैक्सीन सर्टिफिकेट जरूरी, बच्चों की सुरक्षा कैसे?
सरकारी अधिकारियों से मिलने जाने के लिए वैक्सीन का सॢटफिकेट दिखाना अनिवार्य है, वहीं बच्चों की सुरक्षा कैसे होगी, इसको लेकर बड़ा सवाल खड़ा हो रहा है। वहीं सिनेमा हाल, कौशल प्रशिक्षण केन्द्र, ऑडिटोरियम व प्रदर्शनी स्थल, शहर के बाहर से आने वाले लोग, आऊटडोर खेल गतिविधियां, दुकानों व व्यवसायिक प्रतिष्ठानों व रैस्टोरेंट के स्टाफ के लिए वैक्सीन की डोज आवश्यक है। वहीं सैक्टर-19 स्थित शिक्षा विभाग कार्यालय में अधिकारियों से मिलने से पहले गेट पर वैक्सीन डोज के सॢटफिकेट दिखाना पड़ता है।  
अभिभावक चिंतित
विशेषज्ञ कोरोना की तीसरी लहर की आंशका जता रहे हैं। सभी अभिभावकों को अभी वैक्सीन नहीं लग पाई है। स्कूल के स्टाफ का भी वैक्सीनेशन अब तक सुनिश्चित नहीं किया गया है। बच्चे स्कूलों में कोरोना गाइडलाइन की पालना भी नहीं कर पाएंगे। 
अभिभावकों के सवाल
-आखिर किसके दबाव में स्कूल खोलने की तैयारी?
-प्रशासन ने दुकानें खोलने, पार्क में घूमने सहित अधिकांश गतिविधियों के  लिए वैक्सीन की एक डोज अनिवार्य की हुई है। ऐसे में बच्चों को बिना वैक्सीन ही स्कूल जाने के लिए मजबूर क्यों किया जा रहा है। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Vikash thakur

Recommended News