‘हरियाणा-दिल्ली की शांति भंग करना चाहते हैं कैप्टन अमरेंद्र : विज’

2021-09-14T20:54:54.087

चंडीगढ़, (पांडेय): हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने किसान आंदोलन के संबंध में कहा कि यह आंदोलन नहीं रहा है, आंदोलन में लोग तलवारें लेकर नहीं आते हैं, आंदोलन में लोग लाठियंा नहीं मारते, आंदोलन में लोग आने-जाने वालों के रास्ते नहीं रोकते। उन्होंने कहा कि इसको आंदोलन नहीं कहा जा सकता, इसको तो आप गदर कह सकते हो या कोई ओर शब्द कह सकते हो। उन्होंने कहा कि आंदोलन में तो लोग धरने देते हैं, भूख हड़तालें करते हैं, यहां पर ऐसी-ऐसी घटनाएं हुई हैं कि भूख हड़ताल करके लोगों ने अपनी जिंदगियां दे दीं। विज ने कहा कि हमने पंजाब के मुख्यमंत्री कै. अमरेंद्र सिंह के बयान का पूरी तरह से खंडन किया है और कहा है कि एक मुख्यमंत्री को इस प्रकार से नहीं कहना चाहिए कि आप हरियाणा या दिल्ली में करो, इसका मतलब वह हरियाणा व दिल्ली की शांति को भंग करना चाहते हैं। 

 


चंडीगढ़ में पत्रकारों से बातचीत में विज ने कहा कि किसानों के संबंध में 15 सितम्बर को मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में एक उच्चस्तरीय बैठक बुलाई गई है, जिसमें भविष्य की रणनीति पर मंथन किया जाएगा। वहीं राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एन.एच.आर.सी.) द्वारा किसान आंदोलन के संबंध में मांगी गई जानकारी के बारे में पूछे गए एक प्रश्न के उत्तर में विज ने कहा कि किसान आंदोलन के संबंध में आयोग को हरियाणा सरकार की ओर से सब कुछ बताया जा रहा है ओर एन.एच.आर.सी. ने जो-जो भी जानकारी हमसे मांगी हैं हम पूरी जानकारी देंगे। इसके अलावा, हमने सुप्रीम कोर्ट में भी एफिडेविट दाखिल किया है। उन्होंने कहा कि उच्चतम न्यायालय के आदेश भी आए हैं कि वहां पर रास्ता दिलाया जाए। उसके लिए हमने 15 तारीख को मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में उच्च स्तरीय बैठक रखी है और इस संबध में फैसला लिया जाएगा। 

 


‘किसान आंदोलन में कैप्टन का सीधे तौर से हाथ’ 
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह के आर्थिक नुकसान के संबंध में दिए गए बयान बारे विज ने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री को प्रजातांत्रिक मुख्यमंत्री के तौर पर यह बात नहीं कहनी चाहिए कि आपने जो गढ़बढ़ करनी है वो हरियाणा व दिल्ली में जाकर करो, ये एक मुख्यमंत्री का कहना बहुत ही गलत बात है कि मेरे यहां मत करो, हरियाणा व दिल्ली में जाकर करो। विज ने कहा कि ये बहुत ही गैर-जिम्मेदाराना है और इससे यह सिद्ध होता है कि जो आंदोलन खड़ा हुआ है इसके पीछे अमरेंद्र सिंह का ही हाथ है और अमरेंद्र सिंह ने ही अपनी राजनीतिक महत्वाकांक्षा को पूरा करने के लिए इसे जिंदा रखा हुआ है। एक अन्य प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि किसान अगर उनके (पंजाब) में करते हैं तो उनको (पंजाब के मुख्यमंत्री) तकलीफ क्यों होती है। 

 


‘कोरोना के हर मरीज को अस्पताल में भर्ती किया जा रहा है’ 
कोरोना के संबंध में विज ने कहा कि हमने ये आदेश जारी किए हैं कि जो भी कोरोना का मरीज हैं उनको अस्पताल में एडमिट किया जाए, ताकि बीमारी ज्यादा न फैल सके। इसी प्रकार, होम आइसोलेशन वालों को भी अस्पताल में भर्ती किया जाए। इसके अलावा, जो नए मरीजों का पता चल रहा है उनको भी अस्पताल में दाखिल किया जाए, ताकि वहां पर कंटेनमैंट भी रहती हैं और वहां पर कोविड वार्ड भी होता है, जिससे संक्रमण ज्यादा नहीं फैलता है। 


‘हरियाणा के 1.83 करोड लोगों का किया गया टीककरण’ 
विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा भारत में तेजी से किए जा रहे टीकाकरण अभियान की तारीफ के संबंध में स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि हरियाणा में भी 1.83 करोड़ लोगों को हम वैक्सीनेट कर चुके हैं, जोकि बहुत ही बड़ी बात है, क्योंकि हमारे जो पात्र व्यक्ति बनते हैं, वह लगभग इतने ही बनते हैं। इसके अलावा हम कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज भी 40 से 50 लाख लोगों को लगा चुके हैं और हमने अब अपना पूरा जोर लोगों को दूसरी डोज लगाने में लगा रखा है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Vikash thakur

Recommended News