मिलावटी शराब के नैटवर्क पर आई.जी. भारती अरोड़ा का चला हथौड़ा

2021-07-24T21:06:50.353

चंडीगढ़, (अविनाश पांडेय): हरियाणा पुलिस ने चंंडीगढ़ सहित 5 राज्यों में मिलावटी शराब के बड़े नैटवर्क का पर्दाफाश किया है। अम्बाला की आई.जी. भारती अरोड़ा की अगुवाई वाली जांच टीम ने 25 हजार लीटर एक्सट्रा न्यूट्रल एल्होकल (ई.एन.ए.) वाले टैंकर की बरामदगी के बाद नैटवर्क के किंगपिन सहित 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे पहुंचाया है। खास बात यह है कि इस एल्कोहल के जरिए मिलावटी शराब तैयार की जाती थी, जिसे चंडीगढ़ के अलावा उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड व अरुणाचल प्रदेश में सप्लाई की जाती थी। चंडीगढ़ में यह गोरखधंधा विनायक डिस्टलरी में लंबे समय से चल रहा था, जिसकी स्थानीय पुलिस को भनक तक नहीं थी। इस एल्कोहल की सप्लाई मध्य प्रदेश के ग्वालियर की डिस्टलरी से की जाती थी, जिसे चंडीगढ़ में तैयार कर दूसरे राज्यों को भेजा जाता था। 


गौरतलब है कि अम्बाला पुलिस ने बीते 25 जून को एल्कोहल वाले टैंकर नंबर पी.बी.02डी.यू.-3362 की बरामदगी अम्बाला के जी.टी. रोड से की थी। इस टैंकर में करीब 25 हजार लीटर एल्कोहल पाया गया था। पुलिस ने चालक चंदन और क्लीनर अनिल कुमार भारती को गिरफ्तार किया था। इस मामले में अम्बाला के पड़ाव पुलिस थाना में आई.पी.सी. की धारा 420, 467, 468, 471 व 120बी तथा आबकारी अधिनियम के तहत मुकद्दमा दर्ज किया था।


‘गृह मंत्री विज के आदेशों पर भारती अरोड़ा ने संभाली जांच की कमान’
25 हजार एल्होकल वाले टैंकर के पकड़े जाने के बाद गृह मंत्री अनिल विज ने इस मामले को बेहद गंभीरता से लेते हुए अम्बाला की आई.जी. भारती अरोड़ा को जांच की कमान सौंपी। भारती की अगुवाई में जांच टीम ने जब जांच की शुरूआत की तो उसमें कई बड़े खुलासे सामने आए। इस जांच टीम में डी.एस.पी. अम्बाला कैंट रामकुमार, निरीक्षक संदीप व उपनिरीक्षक विनोद को शामिल किया गया। जांच में पाया गया कि 25000 ई.एन.ए. से तीन गुणा यानी 75000 अवैध शराब विनायक बॉटङ्क्षलग प्लांट चंडीगढ़ द्वारा तैयार करके 4 राज्यों में सप्लाई की जाती थी। यह ई.एन.ए. मध्य प्रदेश के ग्वालियर इंडस्टलरी से लाई जाती थी। पुलिस ने उक्त डिस्टलरी के प्रोडेक्शन मैनेजर राजकिशोर दूबे को ङ्क्षभड से तथा विनायक डिस्टलरी के मैनेजर अतुल को राजस्थान से गिरफ्तार किया। इसी कड़ी में अम्बाला शहर के पार्थ शर्मा को यू.पी. के वाराणसी से तथा विनायक डिस्टलरी के संचालक उदयपाल सिंह को पंजाब के अमृतसर से गिरफ्तार किया।

 
‘अंतर्राज्यीय नैटवर्क के मुख्य किंगपिन हैं पार्थ शर्मा और सतबीर सत्ता’
पुलिस ने अपनी जांच में खुलासा किया है कि इस अंतर्राज्यीय गिरोह के मुख्य किंगपिन अम्बाला शहर निवासी पार्थ शर्मा और सतबीर सिंह उर्फ सत्ता हैं। इससे पहले भी इस गिरोह द्वारा 4 गाडिय़ां अवैध ई.एन.ए. की सप्लाई से चंडीगढ़ में अवैध शराब बनाकर टैक्स चोरी कर मोटा मुनाफा कमाया जा चुका है। बताया गया है कि नैटवर्क के मुख्य सरगनाओं की ओर से लंबे समय से अवैध शराब की बिक्री को अमलीजामा पहनाया जा रहा है, जिसमें कोविड काल में अवैध शराब की बिक्री धड़ल्ले से की गई थी।

नकली शराब बनाने की गतिविधियों पर पूर्ण अंकुश लगाने के लिए पुलिस टीम तत्परता से जुटी हुई है। गृह मंत्री अनिल विज के आदेशों पर मैं खुद पूरे केस की मॉनीटरिंग कर रही हूं। इस गिरोह में शामिल अन्य सदस्यों को भी जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाएगा।
-भारती अरोड़ा, पुलिस महानिरीक्षक, अम्बाला रेंज।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Vikash thakur

Recommended News