मुख्यमंत्री ने सरकारी बसों में महिलाओं के मुफ्त सफर की सुविधा शुरू की

2021-04-01T20:36:37.093

चंडीगढ़, (अश्वनी): महिला सशक्तिकरण की तरफ एक और बड़ा कदम उठाते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कै. अमरेंद्र सिंह ने वीरवार को राज्य में चलने वाली सभी सरकारी बसों में महिलाओं को मुफ्त सफर करने की सुविधा का वर्चुअल तौर पर आगाज किया। मुख्यमंत्री ने 85 प्रतिशत रिकॉर्ड वायदे पूरी करने की बात करते हुए कहा, ‘इससे हमने एक और चुनाव घोषण-पत्र का वायदा पूरा कर दिया।’ उन्होंने कहा कि राज्य सरकार 100 प्रतिशत वायदों को पूरा करने की तरफ आगे बढ़ रही है।

 


मुख्यमंत्री ने कहा कि मौजूदा समय में जिन राज्यों में चुनाव हो रहे हैं, उनमें भी दूसरी पाॢटयों की तरफ से महिलाओं को मुफ्त बस सफर के वायदे किए जा रहे हैं। हालांकि हर कोई महिला सशक्तिकरण की बात करता है परंतु पंजाब सरकार ने इस दिशा में ठोस कदम उठाए हैं। वास्तव में उनकी सरकार ने महिलाओं के लिए टिकट दरों में 50 प्रतिशत कटौती का वायदा किया था परंतु इससे भी एक कदम आगे बढ़ते हुए इस सुविधा को बिल्कुल मुफ्त कर दिया है। उन्होंने प्राइवेट बस आप्रेटरों से भी अपनी सामाजिक जिम्मेदारी समझते हुए किराए की दरें घटाने की अपील की है।


इस मुफ्त सफर स्कीम का राज्य में 1.31 करोड़ महिलाओं और लड़कियों को फायदा होगा। सभी महिलाएं चाहे वह कोई भी वित्तीय रुतबा रखती हों, सिर्फ आधार कार्ड या वोटर कार्ड या कोई भी योग्य शिनाख्ती कार्ड दिखाकर सभी गैर ए.सी. बसों और राज्य के अंदर चलने वाली बसों में मुफ्त सफर कर सकती हैं।


महिलाओं के खिलाफ जुर्म को गंभीरता से लेते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार महिलाओं की सुरक्षा के लिए भी वचनबद्ध है और परिवहन विभाग वाहनों की ट्रैकिंग के लिए सभी सरकारी और प्राइवेट बसों में जी.पी.एस. सिस्टम लगाने जा रहा है। इसके अलावा आपात हालत के लिए पैनिक बटन होगा। सरकारी बसों में यह प्रक्रिया मुकम्मल होने के नजदीक है और प्राइवेट आप्रेटरों को 31 अगस्त तक पूरा करने के लिए कहा गया है। कै. अमरेंद्र सिंह ने ऐलान किया कि राज्य में बेहतर सड़कीय नैटवर्क के लिए 25 और बस अड्डे बनाए जाएंगे।


News Editor

Taranjeet Singh

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static