प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर WhatsApp ने बदला फैसला, जानें क्या कहा कंपनी ने

5/8/2021 12:05:37 PM

बिजनेस डेस्कः दिग्गज मैसेजिंग ऐप WhatsApp ने अपनी विवादित प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर अहम ऐलान किया है। व्हाट्सऐप ने भारत में 15 मई से लागू होने वाली नई प्राइवेसी पॉलिसी को फिलहाल टाल दिया है। कंपनी ने प्राइवेसी पॉलिसी को लागू होने की नई तारीखों का ऐलान नहीं किया है। कंपनी ने कहा कि नई पॉलिसी को स्वीकार ना करने वाला कोई भी अकाउंट डिलीट नहीं किया जाएगा। व्हाट्सऐप का सबसे बड़ा यूजर बेस भारत में ही है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक देश में उसके करीब 53 करोड़ यूजर हैं।

PunjabKesari

कंपनी के प्रवक्ता ने पीटीआई को भेजे ईमेल में लिखा है, "15 मई को किसी भी यूजर का अकाउंट इस वजह से डिलीट नहीं किया जाएगा कि उसने प्राइवेसी पॉलिसी स्वीकार नहीं की है। न ही भारत में किसी भी यूजर के व्हाट्सऐप की फंक्शनैलिटी पर इसका कोई असर पड़ेगा। हम अगले कई हफ्तों तक रिमाइंडर भेजकर फॉलोअप करेंगे।" हालांकि इसके साथ ही प्रवक्ता ने यह दावा भी किया है कि ज्यादातर यूजर्स ने नए टर्म्स ऑफ सर्विस यानी शर्तों को स्वीकार कर लिया, जबकि कुछ लोगों ने अब तक ऐसा नहीं किया है। बहरहाल, कंपनी ने यह साफ नहीं किया है कि नई शर्तों को स्वीकार करने वाले यूजर्स कितने हैं। व्हाट्सऐप ने यह भी नहीं बताया है कि उसने 15 मई की डेडलाइन लागू नहीं करने का फैसला क्यों किया है।

PunjabKesari

पहले 8 फरवरी से बढ़ाकर 15 मई की थी डेडलाइन
व्हाट्सऐप ने इससे पहले अपनी प्राइवेसी पॉलिसी में बदलाव के बारे में जानकारी देते हुए यूजर्स को उसे स्वीकार करने के लिए 8 फरवरी तक का वक्त दिया था। उस वक्त भी कहा गया था कि व्हाट्सऐप को इस्तेमाल करने के लिए नई पॉलिसी को मंजूर करना जरूरी होगा लेकिन उस वक्त इसका काफी विरोध हुआ। ज्यादातर लोगों को आशंका थी कि उनका डेटा व्हाट्सऐप की पैरेंट कंपनी फेसबुक के साथ शेयर किया जाएगा और फिर उसका व्यावसायिक इस्तेमाल होगा। भारी विरोध की वजह से ही कंपनी ने नई पॉलिसी स्वीकार करने की डेडलाइन फरवरी से आगे बढ़ाकर मई में कर दी थी।

PunjabKesari

कंपनी का दावा है कि उसकी नई प्राइवेसी पॉलिसी को स्वीकार करने का यह मतलब नहीं है कि उसे यूजर्स के डेटा को फेसबुक के साथ शेयर करने की ज्यादा छूट मिल जाएगी। उसका दावा है कि नए अपडेट से किसी के भी पर्सनल मैसेज की प्राइवेसी पर कोई असर नहीं पड़ेगा। कंपनी का अब भी यही कहना है कि पिछले कुछ महीनों के दौरान उसने यूजर्स की आशंकाओं और गलतफहमियों को दूर करने के लिए लगातार काम किया है। व्हाट्सऐप के मुताबिक वह लोगों की निजी जानकारियों और पर्सनल मैसेज को सुरक्षित रखने के प्रति पूरी तरह प्रतिबद्ध है।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

jyoti choudhary

Recommended News

static