See More

UIDAI ने किया अलर्ट! इस तरह के Aadhaar कार्ड हैं इनवैलिड, हो सकता है बड़ा नुकसान

2020-07-10T13:00:35.017

बिजनेस डेस्कः अगर आपने आधार कार्ड को लैमिनेशन कराया है या फिर उसे प्लास्टिक कार्ड के तौर पर इस्तेमाल कर रहे हैं तो सावधान हो जाइए। UIDAI इसको लेकर कई बार चेतावनी जारी कर चुका है। UIDAI ने सचेत किया है कि ऐसा करने वाले लोगों को भारी नुकसान झेलना पड़ सकता है। अथॉरिटी का मानना है कि ऐसे आधार कार्ड अवैध हैं।

PunjabKesari

क्या हो सकता है नुकसान?
UIDAI ने कहा है कि ऐसा करने से लोगों की निजी जानकारी चोरी हो सकती है। इतना ही नहीं, आधार कार्ड का क्यूआर कोड काम करना बंद भी कर सकता है। अथॉरिटी ने ये भी साफ किया है कि प्लास्टिक आधार या स्मार्ट आधार कार्ड इस्तेमाल ना करें।  

कौन से आधार वैलिड?
अथॉरिटी ने अपने बयान में कहा है कि ओरिजनल आधार के अलावा किसी साधारण पेपर पर डाउनलोड किया गया आधार या एमआधार पूरी तरह से वैलिड है। ऐसे में स्मार्ट आधार के चक्कर में पड़ने की जरूरत नहीं है।

PunjabKesari

मुफ्त में डाउनलोड हो जाता है आधार
UIDAI ने कहा है कि कलर्ड प्रिंट वाले आधार की कोई जरूरत नहीं है, ब्लैक एंड व्हाइट आधार हर जगह पूरी तरह से वैध है। ये भी साफ कहा है कि आधार को लेमिनेट कराने या उसका प्लास्टिक आधार बनाने की भी कोई जरूरत नहीं है। अगर आपका आधार खो जाता है या फट जाता है तो उसे मुफ्त में eaadhaar.uidai.gov.in से फिर से डाउनलोड कर सकते हैं और हर जगह इस्तेमाल कर सकते हैं।

PunjabKesari

300 रुपए तक में बनता है प्लास्टिक आधार
प्लास्टिक आधार बनाने या यूं कहें कि स्मार्ट आधार कार्ड बनाने के लिए दुकानदार 50 रुपए से 300 रुपए तक लेते हैं। इसमें आधार को एक प्लास्टिक या पीवीसी शीट पर प्रिंट कर दिया जाता है। वैसे तो ये कार्ड दिखने में बहुत अच्छा लगता है और काफी लंबा चलता है, लेकिन UIDAI ने कहा है कि लोगों को ऐसे आधार बनाने से बचने की जरूरत है।


jyoti choudhary

Related News