पीएम किसान योजना: नवंबर की किस्त से पहले जल्दी करें ये काम, नहीं तो लटक जाएंगे आपके पैसे

2020-09-05T14:27:40.173

नई दिल्ली: पीएम किसान योजना के तहत केंद्र सरकार ने देश के 8.5 करोड़ किसानों के खाते में 17 हजार करोड़ रुपए ट्रांसफर किए हैं। हालांकि कई किसानों के बैंक खातों में गड़बड़ी के चलते ये पैसे नहीं पहुंचे है। सरकार अगली किस्त नवबंर महीने में जारी करने वाली है। ऐसे में किस्त जारी होने से पहले किसानों को अपने बैंक खातों में आई गड़बड़ियों को सुधारना होगा, ताकि आपको आगे की किस्त मिल सके।

PunjabKesari
गड़बड़ियों का करें सुधार
दरअसल, हो सकता है कि आपकी किसी डॉक्युमेंट में खामी रह गई हो। या फिर आपके आपके आधार नंबर, अकाउंट नंबर या बैंक डिटेल्स में भी अंतर रहने की वजह से कई बार खाते में पैसा ट्रांसफर नहीं हो पाता है। ऐसे में आपको इन गड़बड़ियों का सुधार करना होगा ताकि आपको नवबंर महीने में मिलने वाली किस्त मिल सके।

PunjabKesari
6 हजार की मदद देती है सरकार
किसान योजना के तहत सरकार किसानों के खाते में 6,000 रुपये ट्रांसफर करती है। पीएम-किसान योजना की किस्त का भुगतान कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) की वजह से किए गए 1.70 लाख करोड़ रुपये के प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज (PMGKP) का हिस्सा है।

PunjabKesari
डिटेल्स करें अपडेट
पीएम किसान योजना की ऑफिशियल वेबसाइट (https://pmkisan.gov.in/) पर जाएं। इसके फार्मर कॉर्नर के अंदर जाकर Edit Aadhaar Details ऑप्शन पर क्लिक करें। आप यहां पर अपना आधार नंबर दर्ज करें। इसके बाद एक कैप्चा कोड डालकर सबमिट करें।

PunjabKesari
ऑनलाइन सही करें नाम
अगर आपका केवल नाम गलत होता है यानी कि एप्लीकेशन और आधार में जो आपका नाम है दोनों अलग-अलग है तो आप इसे ऑनलाइन ठीक कर सकते हैं। अगर कोई और गलती है तो इसे आप अपने लेखपाल और कृषि विभाग कार्यालय में संपर्क करें।

PunjabKesari

​​खाते में पैसा नही आया तो इन नंबर पर करे संपर्क
PM-किसान सम्मान योजना निधि के बारे में और विस्तार से जानने के लिए www,yojanagyan.in पर क्लिप करें। अगर आपके खाते में पैसा नहीं आया है तो आप अपने लेखपाल, कानूनगो और जिला कृषि अधिकारी से बातचीत कर सकते हैं। सके अलावा अगर वहां पर बात न बने तो आप केंद्रीय कृषि मंत्रालय के हेल्पलाइन नंबर की मदद ले सकते हैं। आपको PM-Kisan Helpline 155261 या टोल फ्री 1800115526 नंबर पर संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा आप मंत्रालय के इस नंबर (011-23381092) से भी संपर्क कर सकते हैं।


Author

rajesh kumar

Related News