भारत, ब्रिटेन के बीच नई भागीदारी से बाजार पहुंच बाधाएं कम होंगी, रोजगार सृजित होंगे: गोयल

2021-05-05T02:20:32.983

नई दिल्लीः वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि भारत और ब्रिटेन के बीच मंगलवार को घोषित विस्तारित व्यापार भागीदारी (ईटीपी)से द्विपक्षीय व्यापार सहयोग बढ़ेगा, बाजार पहुंच की बाधाएं कम होंगी तथा रोजगार सृजन को गति मिलेगी। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने मंगलवार को विस्तारित व्यापार भागीदारी की शुरूआत की। इस पहल का मकसद दोनों अर्थव्यवस्थाओं के बीच व्यापार संभावनाओं को सामने लाना और उसका उपयोग करना है।

विस्तारित भागीदारी के तहत भारत और ब्रिटेन व्यापक तथा संतुलित मुक्त व्यापार समझौते की रूपरेखा पर बातचीत को सहमत हुए हैं। इसमें जल्दी लाभ प्राप्त करने के लिये अंतरिम व्यापार समझौते पर विचार शामिल है। 

गोयल ने ट्विटर पर लिखा है, ‘‘इससे द्विपक्षीय व्यापार सहयोग बढ़ेगा, बाजार प्रवेश को लेकर बाधाएं कम होंगी तथा दोनों देशों में रोजगार सृजन को गति मिलेगी। वह व्यापार संबंधों को बढ़ाने तथा उसे और प्रागाढ़ बनाने को लेकर लिज ट्रस (ब्रिटेन की अंतरराष्ट्रीय व्यापार मंत्री) के साथ काम करने को लेकर काफी उत्सुक हैं।''

एक अलग बयान में यूके इंडिया बिजनेस काउंसिल ने कहा कि मुक्त व्यपार समझौता अंतिम लक्ष्य है और यह काफी उत्साहजनक है कि ईटीपी तत्काल बाजार पहुंच से जुड़ी बाधाओं को दूर करेगा तथा कारोबार सुगमता को बढ़ावा देगा। 


Content Writer

Pardeep

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static