सेंसेक्स 433 अंक के उछाल से दो सप्ताह के उच्चस्तर पर, निफ्टी 15,800 अंक के पार

punjabkesari.in Monday, Jun 27, 2022 - 06:42 PM (IST)

मुंबईः वैश्विक बाजारों में मजबूती के रुख के बीच स्थानीय शेयर बाजारों में सोमवार को लगातार तीसरे कारोबारी सत्र में लाभ रहा और बीएसई सेंसेक्स 433.30 अंक चढ़कर पिछले दो सप्ताह के उच्चस्तर पर बंद हुआ। सूचना प्रौद्योगिकी, बैंक और एफएमसीजी कंपनियों के शेयरों में लिवाली से भी बाजार में मजबूती आई। तीस शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स 433.30 अंक यानी 0.82 प्रतिशत की बढ़त के साथ 53,161.28 अंक पर बंद हुआ, जो 10 जून के बाद इसका शीर्ष स्तर है। कारोबार के दौरान यह 781.52 अंक तक चढ़ गया था। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 132.80 अंक या 0.85 प्रतिशत की मजबूती के साथ 15,800 अंक के स्तर के ऊपर 15,832.05 अंक पर बंद हुआ। 

शेयर बाजारों में पिछले तीन से जारी तेजी से सेंसेक्स में 2.56 प्रतिशत यानी 1,378 अंक जबकि निफ़्टी में 2.73 प्रतिशत या 418 अंक का उछाल आया है। जियोजीत फाइनेंशल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘जिंस कीमतों में नरमी के साथ घरेलू शेयर बाजारों में हाल के सत्रों के दौरान उछाल आया है।'' विश्लेषकों के अनुसार, अर्थव्यवस्था में सुस्ती की आशंका के कारण निवेशकों को अमेरिका, चीन और यूरोप में मांग घटने से कच्चे तेल की कीमतों में नरमी की उम्मीद है। 

सेंसेक्स की कंपनियों में लार्सन एंड टुब्रो का शेयर सबसे अधिक 2.69 प्रतिशत चढ़ गया। टेक महिंद्रा, एचसीएल टेक्नोलॉजीज, इन्फोसिस, टेक महिंद्रा, इंडसइंड बैंक, एशियन पेंट्स, भारती एयरटेल, टाटा स्टील, अल्ट्राटेक सीमेंट, आईटीसी और सन फार्मा के शेयर भी लाभ में रहे। वहीं, दूसरी तरफ कोटक महिंद्रा बैंक, रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड और टाइटन के शेयर गिरावट लेकर बंद हुए। इसके अलावा बीएसई स्मॉलकैप 1.57 प्रतिशत और मिडकैप 0.87 प्रतिशत चढ़ गया। 

विश्लेषकों के कहा कि वैश्विक कारण घरेलू बाजार की दिशा तय करते रहेंगे। इसके अलावा जीएसटी परिषद की आगामी बैठक पर भी निवेशकों की निगाह रहेगी। अमेरिकी शेयर बाजार में बढ़त के साथ एशिया के अन्य बाजारों में जापान का निक्की, हांगकांग का हैंगसेंग, चीन का शंघाई कंपोजिट और दक्षिण कोरिया का कॉस्पी भी मजबूती के साथ बंद हुआ। वहीं, यूरोपीय बाजार दोपहर के कारोबार में लाभ में थे। इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 0.13 प्रतिशत गिरकर 112.93 डॉलर प्रति बैरल के भाव पर आ गया। शेयर बाजार के आंकड़ों के अनुसार, विदेशी संस्थागत निवेशक लगातार पूंजी बाजार में निकासी कर रहे हैं। उन्होंने शुक्रवार को 2,353.77 करोड़ रुपए मूल्य के शेयर बेचे।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

jyoti choudhary

Related News

Recommended News