आर्थिक आंकड़े, तिमाही परिणाम देंगे बाजार को दिशा

4/14/2019 2:55:32 PM

मुंबईः घरेलू शेयर बाजार के लिए बीता सप्ताह उतार-चढ़ाव भरा रहा जिसमें प्रमुख सूचकांकों में शुद्ध रूप से गिरावट देखी गई। इसके बाद आने वाले सप्ताह में आर्थिक आंकड़े और कंपनियों के तिमाही परिणाम निवेशकों का रुख तय करेंगे। गत सप्ताह शुक्रवार को खुदरा महंगाई और औद्योगिक उत्पादन के आंकड़े आए हैं। खुदरा महंगाई बढऩे के बावजूद नियंत्रण में बनी हुई है, लेकिन औद्योगिक उत्पादन के आंकड़े निराशाजनक रहे हैं। इसका असर आने वाले सप्ताह में बाजार पर देखा जा सकता है। सोमवार को थोक महंगाई के आंकड़े भी जारी होने हैं। इस पर भी निवेशकों की नजर होगी।

आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, मार्च में खुदरा महंगाई बढ़कर 2.83 प्रतिशत पर पहुंच गई जो 5 महीने का उच्चतम स्तर है। वहीं फरवरी में औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर 0.1 प्रतिशत पर सिमट कर रह गई। बीते सप्ताह के दौरान शेयर बाजार में दो दिन गिरावट और तीन दिन बढ़त के रहे। अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) द्वारा भारत का विकास अनुमान घटाने से बुधवार को रही भारी गिरावट के कारण प्रमुख सूचकांक साप्ताहिक गिरावट में चले गए। 

सप्ताह के दौरान बीएसई सेंसेक्स 95.12 अंक यानी 0.24 प्रतिशत लुढ़ककर सप्ताहांत पर 38,767.11 अंक पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 22.50 अंक यानी 0.19 प्रतिशत टूटकर 11,643.45 अंक रह गया। मझौली और छोटी कंपनियां भी दबाव में रहीं। बीएसई का मिडकैप 0.47 प्रतिशत और स्मॉलकैप 0.16 प्रतिशत फिसल गया। गत सोमवार को वैश्विक बाजार से मिले मिश्रित रुझानों के साथ ही घरेलू स्तर पर रिलायंस इंडस्ट्रीज, स्टेट बैंक और वेदांता जैसी दिग्गज कंपनियों में हुई बिकवाली से सेंसेक्स 161.70 अंक और निफ्टी 61.45 अंक टूट गया। मंगलवार को उतार-चढ़ाव से होते हुए सेंसेक्स 238.69 अंक और निफ्टी 67.45 अंक की बढ़त बनाने में कामयाब रहा। 


jyoti choudhary

Related News