कोका-कोला ने उतारे फलों के रस से बने 2 नए उत्पाद

2020-08-04T18:26:53.41

नई दिल्लीः कोका-कोला इंडिया ने मंगलवार को दो नए उत्पाद बाजार में उतारे जो देश में उगाए गए फलों से तैयार किए गए हैं और ये पोषण संबंधी नियमित जरूरतें पूरी करेंगे। कंपनी ने अपने प्रमुख ब्रांड ‘मिनट मेड' के तहत ‘मिनट मेड न्यूट्रीफोर्स' और ‘मिनट मेड वीटा पंच' नामक नए उत्पाद पेश किए हैं जो मानसिक-शारीरिक चुस्ती के साथ ही रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में भी मददगार हैं। इन नए पेयों की शुरुआत के साथ ‘फ्रूट सकुर्लर इकोनॉमी' की पहल को लेकर भी कोका-कोला इंडिया की गंभीरता को दर्शाता है। इस पहल से फल आधारित पेय पदार्थों के लिए जरूरी फलों को उपलब्ध कराने और किसानों को अपनी फसल बढ़ाने को प्रोत्साहन मिलता है। 

कोका-कोला इंडिया ने 2023 तक भारतीय कृषि व्यवस्था को सशक्त बनाने के लिए फ्रूट सकुर्लर इकोनॉमी के निर्माण पर 1.7 अरब डॉलर के निवेश के लिए प्रतिबद्धता दर्शाई है। इस मौके पर कोका-कोला इंडिया और दक्षिण-पश्चिम एशिया के अध्यक्ष टी. कृष्णकुमार कहा, ‘‘कोका-कोला सार्थक ब्रांडों को तैयार करने और अपने उपभोक्ताओं को ताजगी देने वाले पेय पदार्थों की पेशकश करने के अपने उद्देश्य को पूरा करने में जुटी हुई है। हमारी दीर्घकालिक रणनीति उपभोक्ताओं की पसंद के अनुरूप ज्यादा से ज्यादा फल-आधारित पेय पदार्थों की पेशकश करने की है। मिनट मेड के तहत पौष्टिक जूस के हमारे पोटर्फोलियो का विस्तार हर भारतीय को पोषण देने और फलों से हमारी प्रतिबद्धता की दिशा में एक और कदम है।''

कोका-कोला इंडिया और दक्षिण-पश्चिम एशिया के उपाध्यक्ष विजय परशुरामन ने कहा, ‘‘बदलते समय के साथ, उपभोक्ता अब स्वास्थ्य के लिए लाभदायक पेय पदार्थों का विकल्प चुन रहे हैं। इसकी वजह है कि स्वास्थ्य के प्रति उनका द्दष्टिकोण भी तेजी से बदल रहा है। नए पेयों का विकास उपभोक्ताओं की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए किया गया है, क्योंकि वे भी ‘न्यू नॉर्मल' के मुताबिक खुद को बदलना चाह रहे हैं। भारतीय किसानों द्वारा उगाए गए फलों के साथ मिनट मेड मास्टर ब्रांड के तहत हमारे बेहतरीन पोषण पोटर्फोलियो का यह ताजा विस्तार वर्तमान समय में हमारे उपभोक्ताओं की वास्तविक समस्याओं को हल करने पर केंद्रित है।'' 
 


jyoti choudhary

Related News