ई-कॉमर्स के 15 लाख करोड़ के बाजार पर अंबानी की नजर, अपनाई जियो वाली स्ट्रैटिजी

2020-11-11T13:13:23.35

नई दिल्ली: देश में ऑनलाइन रिटेल कारोबार बड़ी तेजी से फैल रहा है। भारत के दिग्गज उद्योगपति मुकेश अंबानी ने ऑनलाइन रिटेल में दबदबा बनाने के लिए जियो वाली स्ट्रैटिजी अपनाई है। रिलायंस जियो के सस्ते डाटा और कॉलिंग प्लान्स के जरिए तहलका मचाने वाले अंबानी अब ऑनलाइन रिटेल सेक्टर में भी ऐसी ही तैयारी कर रहे हैं। जियोमार्ट के जरिए मुकेश अंबानी ऑनलाइन रिटेल मार्किट में कूद चुके हैं और वे अमेजॉन और वालमार्ट स्वामित्व वाली फ्लिपकार्ट को कड़ी चुनौती दे रहे हैं। 

PunjabKesari
मॉर्गन स्टेनली की रिपोर्ट के अनुसार, भारत में ई-कॉमर्स का कारोबार 2026 तक 200 अरब डॉलर ( 1 डॉलर 75 रुपए के हिसाब से करीब 15 लाख करोड़ रुपए) का हो जाएगा। अभी तक इस बाजार पर अमेजॉन और फ्लिपकार्ट के बीच ही टक्कर चल रही थी, लेकिन अब इसमें जियोमार्ट की भी एंट्री हो चुकी है। बता दें कि इस त्योहारी सीजन में ऑनलाइन रीटेल ने रेकॉर्ड बिक्री की है।फेस्टिव सेल में शुरुआती चार दिनों मे ऐमजॉन और फ्लिपकार्ट ने करीब 29000 करोड़ रुपये की बिक्री की। दिवाली से पहले जियोमार्ट ने सेल का आयोजन किया। यहां फेस्टिव प्रॉडक्ट पर 50 फीसदी तक की छूट ऑफर की जा रही है। 

PunjabKesari
जियो में विनिवेश के जरिए 20 अरब डॉलर जुटाए
बता दें कि मुकेश अंबानी ने जियो में विनिवेश के जरिए 20 अरब डॉलर जुटाए और रिलायंस इंडस्ट्रीज को नेट डेट फ्री बनाया। अब रिलायंस रिटेल में विनिवेश हो रहा है और अब तक 6 अरब डॉलर का निवेश आ चुका है। एक रिपोर्ट के अनुसार, सऊदी अरामको रिलायंस के ऑयल और केमिकल बिजनेस में 20 फीसदी हिस्सेदारी खरीद सकती है। अंबानी की कंपनी पहले ही कर्जमुक्त हो चुकी है जिसका फायदा उन्हें रिटेल सेक्टर में सफलता हासिल करने में मिलेगा क्योंकि उनके पास फंड का अभाव नहीं होगा। रिलायंस रिटेल का विनिवेश जारी है और सऊदी अरामको से होने वाली डील की रकम बड़ी होगी।

PunjabKesari
रिलायंस के पास 12000 से ज्यादा आउटलेट का नेटवर्क
वहीं, रिटेल सेक्टर में मुकेश अंबानी का अलग-अलग बिजनेस है। रिलायंस ट्रेड पर सैमसंग के कई स्मार्टफोन अन्य के मुकाबले काफी सस्तें मिल रहे हैं। अभी कुछ दिन पहले ही रिलायंस रीटेल ने फ्यूचर ग्रुप से बिग बाजार समेत उसके होलसेल और लॉजिस्टिक बिजनेस को खरीदा है। लेकिन इस पर अमेजॉन की तरफ से रोक की अपील की गई है और सिंगापुर कोर्ट ने डील पर स्टे भी लगाया है। ऑफलाइन रीटेल में रिलायंस के पास 12000 से ज्यादा आउटलेट का नेटवर्क हो गया। फिलहाल जियो के पास 40 करोड़ से ज्यादा यूजर्स हैं और कंपनी ने फेसबुक के साथ करार किया है। डील के बाद अब उनके लिए कस्टमर बेस डेटा और रिच करना काफी आसान हो गया है।


Author

rajesh kumar

Recommended News