हांगकांग से व्यापक पलायन के लिए जिनपिंग का सत्तावादी शासन जिम्मेदार

punjabkesari.in Tuesday, Jun 28, 2022 - 11:04 AM (IST)

चीन के सत्तावादी शासन के तहत, नागरिक स्वतंत्रताओं पर अत्यधिक सरकारी कार्रवाई के कारण हांगकांग से प्रवासन में तेज वृद्धि देखी गई है। एक मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि 2020 में हांगकांग ने लगभग 93,000 निवासियों को खो दिया, इसके बाद 2021 में और 23,000 को। हांगकांग की आबादी में 2003 के बाद से सबसे बड़ी गिरावट आई, जब स्वीयर एक्यूट रैस्पीरेट्री सिंड्रोम (सार्स) फैल गया। हांगकांग के कई निवासी अपने भविष्य के लिए बढ़ते डर के बीच विदेश में एक नया जीवन शुरू करने के लिए शहर खाली कर रहे हैं।

हांगकांग के हाल के उत्प्रवास के निष्पक्ष सर्वेक्षण परिणामों से पता चला है कि 79 प्रतिशत उत्तरदाताओं ने 2 साल के भीतर प्रवास करने की योजना बनाई और 19 प्रतिशत 6 महीने के भीतर हांगकांग छोड़ने का इरादा रखते हैं। 11-12 जून को आयोजित तीसरी ‘अंतर्राष्ट्रीय आप्रवास और संपत्ति एक्सपो’ ने एक सर्वेक्षण किया, जिसमें ऑनलाइन पंजीकरण करने वाले संभावित आगंतुकों से 35,000 सर्वेक्षण एकत्र किए गए। सर्वेक्षण से पता चलता है कि 3 सबसे लोकप्रिय देश यूनाइटेड किंगडम, कनाडा और ऑस्ट्रेलिया हैं, जिनका क्रमश: 31 प्रतिशत, 22 प्रतिशत और 21 प्रतिशत हिस्सा है।

सर्वेक्षण से यह भी पता चलता है कि जो परिवार आॢथक रूप से बेहतर हैं, वे अधिक प्रवास करते हैं- 66 प्रतिशत उत्तरदाताओं की कुल संपत्ति 1.02 मिलियन अमरीकी डालर से अधिक है और 17 प्रतिशत के पास 6.37 मिलियन अमरीकी डालर से अधिक की संपत्ति है। जो लोग छोडऩे की योजना बना रहे हैं, उनमें से 30 प्रतिशत उस समूह में हैं जिनकी मासिक घरेलू आय 20,000 अमरीकी डालर से अधिक है। बढ़ते चीनी हस्तक्षेप के साथ लॉकडाऊन और संगरोधन नीतियों के कारण कई प्रवासी अमरीका, यूनाइटेड किंगडम, ऑस्ट्रेलिया और अन्य देशों में बेहतरी के लिए घर लौट आए। मीडिया रिपोर्टों में शहर के आव्रजन विभाग के हवाले से कहा गया है कि इससे पहले, शहर ने 2015-2019 से प्रति वर्ष औसतन 53,000 नए निवासियों का स्वागत किया, जो अकेले मार्च के पहले 2 हफ्तों के दौरान हांगकांग छोडऩे वाले लोगों की सटीक संख्या के रूप में निकला।  


हांगकांग की जनगणना और सांख्यिकी विभाग के अनुसार, पिछले 60 वर्षों में हांगकांग की आबादी लगभग हर साल बढ़ी है, 1961 में लगभग 3.2 मिलियन लोगों से 2019 में 7.5 मिलियन हो गई। हालांकि पिछले कुछ वर्षों में चीनी कार्रवाई के बाद लोगों ने देश छोडऩे के बारे में सोचा है, लेकिन पिछले 6 महीनों में एक पूर्ण सामूहिक पलायन हुआ है। यह अनुमान है कि पिछले 6 से 12 महीनों में 60-70 प्रतिशत लोग चले गए हैं, जिनमें हांगकांग में व्यवसायियों और परिवारों के साथ-साथ वे लोग भी शामिल हैं जो कभी वहां रहने के लिए प्रतिबद्ध थे।


हांगकांग से निकलने वाला पैसा इस बात का भी संकेत देता है कि लोग किस तात्कालिकता से भाग रहे हैं। अधिकांश लोग ब्रिटेन में स्थानांतरित हो रहे हैं। मार्च तक 1 लाख से अधिक लोगों ने स्थानांतरण के लिए आवेदन किया है। हालांकि, छोडऩे वाले अधिकांश लोग सिंगापुर जाते हैं, विशेषकर वे, जो वित्त, कानून और भर्ती में काम कर रहे हैं क्योंकि वे लोग व्यापार की आसानी, पारिवारिक मित्रता, कर प्रोत्साहन और सिंगापुर की खुली सीमाओं से आर्किषत होते हैं।

मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि ‘एशियाई बाघों’ की हांगकांग से जापान, दक्षिण कोरिया और थाईलैंड की ओर प्रवास में भी तेजी दिखाई दे रही है। दुबई भी हांगकांग से प्रतिभा को अवशोषित कर रहा है, जैसे पैप्सी, यूनिलीवर और पी. एंड जी. ने लोगों को हांगकांग से संयुक्त अरब अमीरात में स्थानांतरित कर दिया।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Related News

Recommended News