प्रदूषण को खत्म करने के लिए जल्द ही सड़कों पर फर्राटा भरेंगी 'नवरत्न' की इको-फ्रेंडली बसें

2021-07-24T22:24:58.283

लुधियाना। स्वच्छ पर्यावरण के वादे को पूरा करते हुए नवरत्न ग्रुप जल्द ही इको फ्रेंडली बसें ले कर आ रही हैं। जल्द ही कंपनी भारत में ई—बसों की लांचिंग करेगी। प्रदूषण के खिलाफ जंग में ये बसें मदद करेंगी। नवरत्न ग्रुप (Navrattan Group) का मकसद देश के लोगों के जीवन में एक बदलाव लाना है।

इन ई—बसों को बनाने में फाइबर मैटेरियल का इस्तेमाल किया गया है। साथ में इसके निर्माण में हाई-क्वालटी ग्लास फाइबर के मिश्रण भी इस्तेमाल हुआ है। अन्य इलेक्ट्रिक बससें की तुलना में कंपनी की ई-बस ज्यादा बेहतर हैं। इनका भार काफी कम है। यह एक इको-फ्रेंडली बस है, जिससे पर्यावरण दुरुस्त रहेगा। इसको भारतीय सड़कों के मुताबिक बनाया गया है. इन क्वालि​टीज की वजह से यह बाकी ई—बसों की तुलना में बेहतर है। खास बात यह है कि भविष्य की जरूरतों को देखते हुए इन बसों के कॉरीडोर थोड़े चौड़े हैं. साथ ही फ्लोर को थोड़ा नीचे रखा गया है। इससे सवारियों को चढ़ने—उतरने में कोई परेशानी नहीं आएगी। बसों ने ट्रायल रन में अब तक 30 लाख किलोमीटर का सफर तय किया है। इनकी परफार्मेंस की बात की जाए तो 50 बसें विदेशी सड़कों पर फर्राटा भर रही हैं। 

नवरत्न ग्रुप के फाउंडर एवं चेयरमैन हिमांश वर्मा (Himansh Verma) का कहना है कि पर्यावरण की दशा सुधारने के उद्देश्य से इन ई—बसों के निर्माण की बात सोची गई थी। ये बसें वास्तविकता में ट्रांसपोर्ट के क्षेत्र में क्रांति की ओर इशारा करती हैं. यह रिमोट से चलने वाले सिस्टम, मोबाइल ऐप के जरिए बिजली बचाने और रेडियो फ्रीक्वेंसी के प्रयोग में कारगर है।उनका कहना है कि इस समय कार्बन फुटप्रिंट व ईंधन की खपत को कम करना सबसे जरूरी है। ये ई—बसें चार घंटे चार्ज होने के बाद 16 घंटे दौड़ सकती हैं. प्रदूषण फैलाए बिना लोगों के आवागमन का साधन बनने वाली ये बसें बड़ा बदलाव ला सकती हैं।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Deepender Thakur

Recommended News