आप ने केन्द्र सरकार से की मेट्रो का किराया कम करने की मांग

नई दिल्लीःआम आदमी पार्टी (AAP) ने दिल्ली मेट्रो के किराये में बढ़ोतरी के कारण यात्रियों की संख्या में कमी आने के मद्देनजर केन्द्र सरकार से मेट्रो के किराये में कमी करने की मांग की है। आप के राष्ट्रीय सचिव पंकज गुप्ता ने बुधवार को पर्यावरण के क्षेत्र में कार्यरत शोध संस्था सीएसई की रिपोर्ट के हवाले से कहा कि दिल्ली मेट्रो विश्व की दूसरी सबसे महंगी मेट्रो रेल सेवा है।

गुप्ता ने कहा ‘‘दिल्ली मेट्रो का किराया आम आदमी की पहुंच से बाहर हो गया है। यह बेहद शर्मनाक है कि मेट्रो रेल की सेवा बेहतर होने के बावजूद महज किराये की अधिकता के कारण यात्रियों की संख्या में कमी आ रही है।’’ उन्होंने कहा कि रिपोर्ट से स्पष्ट है कि साल 2016 में मेट्रो के यात्रियों की अनुमानित संख्या लगभग 39 लाख प्रतिदिन थी। परन्तु मेट्रो के किराये में इजाफे के कारण यह आंकड़ा लगभग 27 लाख तक ही पहुँच पाया है।



गुप्ता ने कहा कि इसके कारण दिल्ली में यातायात की समस्या बढ़ी हैं, इससे प्रदूषण का संकट भी गहरा रहा है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार को मेट्रो के किराये में कम से कम इतनी कमी करना चाहिये जिससे यात्रियों की संख्या अपेक्षा के अनुरुप पहुंच सके।

गुप्ता ने कहा कि आप ने किराये बढ़ोतरी का पुरजोर विरोध करते हुये ऐसा करने से यात्रियों की संख्या में कमी आने के प्रति आगाह किया था। उन्होंने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उस समय कहा था कि मेट्रो लाभार्जन का साधन नहीं है बल्कि जनता को बेहतर सेवा देने वाली परिवहन सेवा होने के कारण इसका किराया आम आदमी की पहुंच से बाहर करना तर्कसंगत नहीं है। उन्होंने कहा कि सीएसई की रिपोर्ट से इस बात की पुष्टि भी हुई है।



गुप्ता ने इस बारे में दिल्ली के सातों भाजपा सांसदों से पूछा कि उन्होंने जनता से जुड़े इस मुद्दे को कभी संसद में क्यों नहीं उठाया और क्या अब आवास एवं शहरी मामलों के राज्यमंत्री हरदीप सिंह पुरी सीएसई की रिपोर्ट सामने आने के बाद दिल्ली की जनता से माफी मांगेंगे।

Related Stories:

RELATED जहरीली दिल्ली में अकेला छोड़ केजरीवाल पहुंचे दुबई?