होटल ने नौकरी से निकाले 123 रोबोट, खर्राटे लेते ही करने लगते थे ऐसा काम

टोक्योःजापान में दुनिया का ऐेसा पहला होटल है जहां लोगों की सुविधा के लिए 243 रोबोट रखे गए ऐर इसका नाम गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में भी दर्ज हुआ। लेकिन अब यही रोबोट लोगों के लिए परेशानी का सबब बनते जा रहे हैं। लोगों की शिकायतों के चलते करीब 123 रोबोट को निकाल दिया गया है। यहां आने वाले गेस्ट को शिकायत थी कि खर्राटे लेते ही रोबोट उन्हें जगा देते हैं। गेस्ट के साथ ऐसा रात में कई बार होता है। अगर रोबोट रिसेप्शन जैसी जगह बैठा हो तो वह आपके सामान्य सवालों का भी जवाब देने में नाकाम था। कर्मचारी ओवरटाइम में बिगड़े रोबोट्स को ठीक करने का काम करते थे।

एक स्टाफ मैंबर ने बताया कि रोबोट के चलते हमारा काम आसान हो गया है क्योंकि गेस्ट की समस्याएं सुनने हमें नहीं जाना पड़ता। 2015 में यह होटल जापान के सासेबो में खोला गया था। इसे काफी शोहरत भी मिली थी। शुरुआत में होटल में 80 रोबोट रखे गए थे। बाद में इनकी संख्या तिगुनी हो गई। वॉल स्ट्रीट जर्नल के मुताबिक होटल में जल्द ही समस्याएं भी शुरू हो गईं। गेस्ट ने बताया कि उनके होटल में रुकने के दौरान आधे से ज्यादा रोबोट डांसर काम नहीं कर रहे थे। वहीं, रूम में मदद के लिए तैनात किए गए रोबोट (चुरी) सामान्य बातचीत और लाइट-एसी ऑपरेट करने में नाकाम रहे। अतसुशी निशीगुची 2017 में होटल में रुके थे। उन्होंने बताया कि चुरी से परेशान होकर उन्होंने रिसेप्शन पर फोन लगाने का सोचा लेकिन उनके कमरे में फोन ही नहीं था।

इसके बाद उन्होंने मोबाइल से कर्मचारी को बुलाया। एक अन्य गेस्ट योशीहिसा इशीकावा ने बताया कि चुरी ने उन्हें कई बार नींद से जगाया और पूछा- आपने जो कहा, एक बार फिर से कहेंगे? इशीकावा को सुबह यह बात समझ आई कि खर्राटे की आवाज से रोबोट का ऑटो सेंसर काम करने लगता था। मैनेजरों ने बताया कि चुरी की खराब रिपोर्ट के चलते पूरे होटल से उन्हें हटा दिया गया है। रिसेप्शन से भी रोबोट हटा दिए गए हैं क्योंकि वे गेस्ट को फ्लाइट शेड्यूल या अन्य जानकारियां मुहैया नहीं करा पा रहे थे। सामान उठाने वाले दो रोबोट्स को भी हटा दिया गया है क्योंकि वे 100 में से 24 कमरों में ही जा पा रहे थे।

 

Related Stories:

RELATED होटल में मिली एक्सपायरी डेट की बीयर, सख्त कार्रवाई की तैयारी