मांगों को लेकर गरजे कामगार, श्रम विभाग के अधिकारियों के खिलाफ की नारेबाजी

अम्ब: उपमंडल अम्ब के तहत एक उद्योग के कर्मचारियों ने अपनी मांगों को लेकर उपमंडल मुख्यालय में धरना-प्रदर्शन किया। मजदूर संघ सी.आई.टी.यू. के बैनर तले आयोजित इस धरना-प्रदर्शन में उद्योग के कर्मचारियों के अलावा उनके परिवारों के सदस्यों और विभिन्न पंचायत प्रतिनिधियों ने भी भाग लिया। उद्योग के खिलाफ किए गए इस प्रदर्शन के दौरान श्रमिकों ने श्रम विभाग के अधिकारियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। श्री रामलीला मैदान अम्ब से शुरू हुए रोष प्रदर्शन के बीच श्रमिकों द्वारा लगाए गए मुर्दाबाद के नारों से अम्ब गूंज उठा।

पुलिस ने संभाला मोर्चा

बड़ी संख्या में एकत्रित हुए श्रमिकों व अन्य को देखते हुए पुलिस ने मोर्चा सम्भाल लिया और किसी भी अनहोनी से निपटने के लिए पुलिस ने अतिरिक्त पुलिस बल बुला लिया। नारेबाजी करते हुए श्रमिक सबसे पहले श्रम निरीक्षक कार्यालय अम्ब में पहुंचे लेकिन वहां पर श्रम निरीक्षक नहीं मिले और इस दौरान श्रमिकों ने कार्यालय परिसर में कुछ समय तक श्रम विभाग के अधिकारी के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इसके बाद वे एस.डी.एम. कार्यालय परिसर में पहुंच गए और वहां पर अपने हकों को लेकर आवाज बुलंद की।

श्रमिकों का किया जा रहा उत्पीड़न

सीटू के आला नेताओं ने कहा कि वे उद्योग के कर्मचारियों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर साथ खड़े हैं और उनकी मांगों को पूरा करवाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। वक्ताओं ने आरोप लगाया कि उद्योग में श्रमिकों का उत्पीड़न किया जा रहा है। श्रम कानून को लागू करने की मांग उठाने वाले कामगारों की तमिलनाडु बदली कर दी गई। यहां तक कि श्रमिकों के हक की आवाज उठाने वालों पर जानलेवा हमले हो चुके हैं।

यूनियनों का पंजीकरण करवा कर ही लेंगे दम

उन्होंने कहा कि श्रमिकों के हित में यूनियन को पंजीकरण करने के लिए पिछले लम्बे समय से प्रयास किए जा रहे हैं लेकिन श्रम विभाग के कर्मचारियों और उद्योग प्रबंधन की कथित मिलीभगत से यूनियनों का पंजीकरण नहीं हो पा रहा है। उलटा कम्पनी प्रबंधन ने मजदूरों को प्रताडि़त करने व गैर-कानूनी दंडात्मक कार्रवाई शुरू कर दी है। उन्होंने चेतावनी दी है कि अब पीछे नहीं हटेंगे और मजदूरों के हित में यूनियनों का पंजीकरण करवा कर ही दम लेंगे।

इन्होंने किया रैली को संबोधित

इस मौके पर सी.आई.टी.यू. के राष्ट्रीय सचिव डा. कश्मीर सिंह, सी.आई.टी.यू. के राज्य महासचिव प्रेम गौतम, बी.डी.सी. अम्ब के वाइस चेयरमैन सुरेश मियां, उद्योग के कर्मचारी नेता मनोज कुमार, सीटू नेता गुरनाम सिंह, ओम दत्ता, विजय शर्मा, सुरेंद्र कुमार, संदीप कुमार, विजय, सुच्चा, सुभाष, प्रह्लाद, अश्विनी कुमार, विशाल, मकबूल, अमित, अंकुश, मनीष कुमार, रोहित कुमार, किसान नेता दुलंभ सिंह, चरण दास, शिव कुमार, सुखपाल सिंह भुल्लर व विजय शर्मा आदि ने भी रैली को संबोधित किया।

यूनियनों के पंजीकरण बारे सौंपा ज्ञापन

उधर धरना-प्रदर्शन के बाद सीटू नेताओं की मौजूदगी में उद्योग में कार्यरत श्रमिकों के प्रतिनिधियों ने एस.डी.एम. अम्ब तारुल एस. रवीश को यूनियनों के पंजीकरण के संबंध में ज्ञापन सौंपा जिस पर उन्होंने उचित कार्रवाई का आश्वासन देते हुए कहा कि ज्ञापन को सरकार को भेज दिया जाएगा।

यूनियनों के पंजीकरण का कार्य अंडर प्रोसैस

जिला श्रम अधिकारी प्रेम चम्बयाल ने बताया कि उक्त उद्योग के कर्मचारियों ने 4 यूनिटों की यूनियनों के पंजीकरण के लिए आवेदन किया था जिस पर कार्रवाई के बाद फाइलों को शिमला भेज दिया गया जहां से यूनियन पंजीकरण की 2 फाइलों में ऑब्जैक्शन लगकर आ गया। अब दोबारा से इन 2 यूनियनों के पंजीकरण का कार्य चल रहा है जोकि अंडर प्रोसैस है। जहां तक अम्ब में श्रम निरीक्षक के कार्यालय के बंद होने का सवाल है तो सोमवार को श्रम निरीक्षक चिंतपूर्णी में दुकानों का निरीक्षण करने गए हुए थे।

Related Stories:

RELATED बिजली निगम के खिलाफ ग्रामीणों ने की नारेबाजी, लगाया जाम