आॅफ द रिकार्ड: जब PM मोदी ने महिला सांसद को वीडियो रिकॉर्डिंग करने पर डांटा

नेशनल डेस्क: यह एक दुर्लभ अवसर था जब संसदीय दल की बैठक में सभी भाजपा सांसदों की मौजूदगी ने चकित कर दिया था। बैठक में संसद के दोनों सदनों से 350 भाजपा सांसदों में से 250 पहुंचे थे। पिछले 4 वर्षों के दौरान इस तरह का दृश्य कभी नहीं देखा गया।


इससे पहले मोदी की सख्ती पर संसद सत्र के दौरान हर मंगलवार को होने वाली बैठकों में देर से पहुंचने वाले सांसदों के लिए दरवाजे बंद कर दिए जाते थे। वह चिंति​त हो जाते थे लेकिन बाद में नरम पड़ जाते थे। हालांकि पिछले मंगलवार को वह उस समय गुस्से में आ गए जब उन्होंने पाया कि सामने वाली पंक्तियों में बैठी एक महिला सांसद बैठक की कार्रवाई रिकॉर्ड कर रही है।


मोदी जो अमित शाह, राजनाथ सिंह, सुषमा स्वराज और एल.के. अडवानी के साथ मंच पर बैठे थे, ने कैमरे की ओर देखा और बोलना बंद कर दिया। हुआ क्या, इस बात को लेकर बैक बैंचर्स में चर्चा शुरू हो गई और वे थोड़े से चिंतित भी हो गए। बाराबंकी की सांसद प्रियंका रावत की वीडियो रिकॉर्डिंग देखी गई और उन्हें सख्ती से कहा कि यह मीडिया विभाग का काम है न कि तुम्हारा। उसने तुरंत अपना मोबाइल फोन बंद कर दिया लेकिन मोदी ने कठोरता दिखाई। उन्होंने उसे रिकॉर्ड किए गए हर फुटेज को हटाने का निर्देश दिया। बाद में बैठक में उपस्थित एक भाजपा पदाधिकारी ने सुनिश्चित किया कि फुटेज हटा दिए गए हैं। 

Related Stories:

RELATED MP Election: PM मोदी की कांग्रेस को चुनौती, कहा-'आओ हो जाए मुकाबला'