ब्रेक्जिट समझौते को फिर लग सकता है ग्रहण, असमंजस में थरेसा मे

लंदनः ब्रेक्जिट समझौता ब्रिटेन प्रधानमंत्री थरेसा मे के लिए गले की फांस बना हुआ है और इस पर एक बार फिर ग्रहण लग सकता है। थरेसा ने सांसदों से कहा है कि वह ब्रेक्जिट संबंधी समझौते को अगले हफ्ते संसद में संभवत: पेश नहीं करेंगी।



संकट में घिरी मे ने सांसदों को शुक्रवार रात लिखे पत्र में कहा, ‘‘अगर ऐसा लगा कि पर्याप्त समर्थन है’’ तो वह विधेयक को संसद में वापस लाएंगी। साथ ही उन्होंने कहा कि हाउस ऑफ कॉमन्स के अध्यक्ष जॉन बर्को की आपत्तियों के बावजूद उन्हें योजना को तीसरी बार पेश करने के लिए उनसे सहमति लेनी होगी। सांसद दो बार इस समझौते को रद्द कर चुके हैं।



कोई सौदा नहीं होने की सूरत में ब्रिटेन 12 अप्रैल को यूरोपीय संघ से बाहर हो जाएगा। मे ने सांसदों को बताया कि ब्रिटेन के पास अतिरिक्त समय समेत अन्य विकल्प हैं जिसके लिए उसे मई में होने वाले यूरोपीय संसद के चुनावों में हिस्सा लेना होगा। उन्होंने एक सहयोगात्मक टिप्पणी करते हुए ब्रेक्जिट नीति पर चर्चा के लिए सांसदों से मुलाकात की भी पेशकश की।

Related Stories:

RELATED आज से इस पवित्र स्थान पर मिलेगा कान्हा की नगरी का आनंद