अगले वित्त वर्ष की दूसरी छमाही में वाहन बिक्री गति पकड़ेगी: इंड-आरए

नई दिल्लीः इंडियन रेटिंग्स एंड रिसर्च (इंड-आरए) का अनुमान है कि वित्त वर्ष 2019-20 की पहली छमाही में देश में वाहन बिक्री की गति मंद बनी रहेगी लेकिन बीएस-छह उत्सर्जन नियमों को लागू किये जाने की वजह से साल की दूसरी छमाही में मांग में वृद्धि देखी जा सकती है।  रेटिंग एजेंसी के मुताबिक इस वित्त वर्ष के पहले दस महीनों में यात्री वाहन उद्योग में चार प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गयी और अगले वित्त वर्ष में इसमें‘मध्यम’वृद्धि का अनुमान है।

इंड-आरए की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि वित्त वर्ष 2018-19 के प्रथम दस महीनों में वाणिज्यिक वाहन उद्योग में 23 प्रतिशत तक की वृद्धि दर्ज की गयी और अगले वित्त वर्ष के दौरान भी इसमें दहाई अंक में वृद्धि का अनुमान जताया गया है।  

बयान के मुताबिक अगले वित्त वर्ष में दोपहिया वाहन उद्योग में भी मंद वृद्धि का अनुमान है। वर्तमान वित्त वर्ष में अब तक इस उद्योग में आठ प्रतिशत की दर से वृद्धि दर्ज की गयी है। रेटिंग एजेंसी का अनुमान है कि बीएस-छह नियमों को लागू किये जाने, ग्राहकों की धारणा में मजबूती और नये मॉडल और संस्करण को लांच किए जाने से अगले वित्त वर्ष की दूसरी छमाही में वृद्धि के गति पकडऩे की संभावना है। वाणिज्यिक उद्योग के बारे में उसमें कहा गया कि औद्योगिक गतिविधियों, सड़क और बुनियादी ढांचा विकास और गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों में नकदी की उपलब्धता से मांग में वृद्धि दर्ज की जाएगी।       

Related Stories:

RELATED तेज गति में आ रहे कैंटर ने पैदल राहगीर को कुचला, मौत