घर में बरकत बनाए रखने के लिए आज ही करें ये उपाय

ये नहीं देखा तो क्या देखा(video)
आज के समय में हर कोई अमीर बनने की चाह रखता है और इसके लिए हर व्यक्ति दिन-रात मेहनत भी करता है ताकि वे अपनी और अपने परिवार वालों की हर जरूरत को पूरा कर सके। कई लोग मेहनत तो बहुत करते हैं लेकिन दिन के अंत में उनके पास बचता कुछ भी नहीं है या फिर यूं कहे कि उनके पास पैसा नहीं ठहरता है। ऐसा माना जाता है कि यादि किसी के पास पैसा नहीं ठहरता तो इसका कारण घर में मौजूद वास्तु दोष हो सकता है। क्योंकि घर में अगर बरकत न हो तो कोई भी व्यक्ति अमीर नहीं बन सकता है। घर के वास्तु दोष को जितना जल्दी हो सके दूर कर लेना चाहिए। तो चलिए आज हम आपको इसी से जुड़े कुछ टिप्स के बारे में बताएंगे। 


घर की उत्तर-पूर्व दिशा में डस्टबीन या कचरा नहीं रखना चाहिए। कहते हैं कि यहां गंदगी होने से धन का नाश होता रहता है। इसलिए घर की हर रोज़ साफ-सफाई का ख्याल रखना चाहिए।

वास्तु शास्त्र के अनुसार अगर घर के नल से पानी टपकता रहे तो आर्थिक नुकसान उठाना पड़ सकता है। ऐसा माना जाता है कि नल के टपकने के साथ-साथ धीरे-धीरे धन का नुकसान होता है और घर में बरकत नहीं रहती है तो इसे जितना जल्दी हो सके ठीक करना लेना चाहिए। 

घर की ढ़लान अगर उत्तर पूर्व में ऊंची है तो धन के आगमन में रुकावट आती रहती है और आय की अपेक्षा खर्च ज्यादा होता है।

कहते हैं कि पश्च‌िम द‌िशा में रसोई होने पर धन का आगमन अच्छा रहता है लेक‌िन बरकत नहीं रहती है यानि धन जैसे आता है वैसे खर्च भी हो जाता है।

बैडरूम के प्रवेश द्वार के सामने वाली दीवार के बाएं कोने पर धातु की कोई चीज़ लटकाकर रखें। वास्तुशास्त्र के अनुसार यह स्थान भाग्य और संपत्ति का क्षेत्र माना जाता है। 

अगर आप चाहते है कि आपके धन में वृद्धि और बचत हो तो तिजोरी और अलमारी जिसमें धन रखना हो उसे दक्षिण की दिवार से सटा कर इस प्रकार रखें कि, उसका मुंह उत्तर दिशा की ओर रहे। क्योंकि दक्ष‌िण दिशा की ओर तिजोरी का मुंह होने पर धन नहीं ठहरता है।

घर के दक्ष‌िण पश्च‌िम द‌िशा में शौचालय या पानी की टंकी होने पर धन नहीं ठहरता है। टूटा हुआ बेड और पलंग घर में नहीं रखना चाहिए इससे आर्थिक लाभ में कमी आती है और खर्च बढ़ता है। 
माघ पूर्णिमा पर ये काम दिलाएंगे आपको मोक्ष की प्राप्ति!(video)

Related Stories:

RELATED जन्मदिन की खुशियां बदली मातम में, सड़क हादसे में 2 सगे भाईयों की मौत