गणेश जी की ये मूर्ति करेगी आपकी हर मनोकामनाओं की पूर्ति

ये नहीं देखा तो क्या देखा (Video)
हमारे हिंदू धर्म में भगवान गमएश को प्रथम पूज्य देव माना गया है। कहते हैं किसी भी शुभ काम की शुरुआत के लिए सबसे पहले गणपति को ही पूजा जाता है। ऐसा माना जाता है कि गणेश जी की कृपा मिलने से घर में धन का आभाव नहीं रहता है। इसके साथ ही गणेश जी वास्तु की दृष्टि से भी सही माने जाते हैं। वास्तु शास्त्र के अनुसार जातक को अपनी मनोकामना के अनुसार अपने घर में गणपति की प्रतिमा को स्थापित करना चाहिए। तो चलिए जानते हैं कि किस मनोकामना के लिए किस गणेश जी को स्थापित करें।


अगर आप संतान सुख से वचिंत हैं तो वास्तु के अनुसार संतान गणेश को घर में लाना चाहिए और उनकी रोज पूजा करनी चाहिए। 

जिस घर में कलह-क्लेश रहता है या परिवार वालों के बीच आपस में नहीं बनती तो गणेश जी की विघ्नहर्ता की प्रतिमा मुख्य द्वार पर स्थापित करनी चाहिए। 

धनदायक गणपति की प्रतिमा घर के अंदर या फिर मुख्य द्वार पर स्थापित करें, इससे घर में दरिद्रता का लोप, सुख-समृद्धि व शांति हमेशा बनी रहती है। 

यदि घर में कोई युवक-युवती है जिसकी शादी नहीं हो रही है तो ऐसे लोग अपने घर में गणपति जी के विवाह विनायक रुप की मूर्ति स्थापित करें। विवाह जल्द तय होंगे।

अगर कोई पुराना ऋण, जिसे चुकता करने की स्थिति में न हो, तो ऋण मोचन गणपति घर में लगाना चाहिए। 

यदि कोई पुराना रोग पीछा नहीं छोड़ रहा या कोई ऐसा रोग हो गया हो जो दवा से ठीक न होता है, उन घरों में रोगनाशक गणपति की स्थापना व आराधना करनी चाहिए।

हर कार्य की सफलता व साधनों की पूर्ति के लिए सिद्धिनायक गणपति को घर में लाना चाहिए और प्रतिदिन उनकी पूजा करनी चाहिए। 

Related Stories:

RELATED असामाजिक तत्वों ने की संत भगत की प्रतिमा से छेड़छाड़, अफ़सरशाही की भेंट चढ़ रही मूर्ति