अमरीकी सांसदों का पाक सरकार से अनुरोध, अल्पसंख्यकों को दें समानता

वाशिंगटनः अमरीका के कई सांसदों ने पाकिस्तान की नई सरकार से उसके सजातीय और धार्मिक अल्पसंख्यकों के साथ समानता का और गरिमापूर्ण व्यवहार करने का अनुरोध किया है। सांसदों ने बुधवार को साउथ एशिया माइनॉरिटीज एलायंस फाउंडेशन और वॉयस ऑफ कराची (वीओके) द्वारा आयोजित ‘द माइनॉरिटीज डे ऑन द हिल’ में यह टिप्पणी। उन्होंने इमरान खान सरकार से कराची के साथ-साथ बलूचिस्तान और खैबर पख्तूनख्वा प्रांत समेत देश के अन्य हिस्सों में अल्पसंख्यकों के मानवाधिकार उल्लंघनों को रोकने का अनुरोध किया।     

अमरीकी कांग्रेस के सदस्य थॉमस गारेट जूनियर ने दुनिया के सभी देशों से अपील की, कि वे अपने अल्पसंख्यक समुदायों के साथ सम्मानपूर्वक और गरिमापूर्ण व्यवहार करें तथा उन्हें समान अधिकार दें जिसके वे हकदार हैं। उन्होंने कहा कि मैं मुहाजिर लोगों की दुर्दशा समझता हूं जो आजादी के बाद जातीय सफाये के शिकार बने। उन्हें इस उम्मीद से अपना घर छोडऩा पड़ा कि जहां वे जाएंगे वहां उनका स्वागत होगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

कांग्रेस सदस्य स्कॉट पेरी ने कहा कि हम अमरीका में सभी जातीय तथा धार्मिक अल्पसंख्यकों से समानता का व्यवहार करते हैं और हम अपने सहयोगियों से भी ऐसा ही करने की मांग करते हैं। हम एक साथ मिलकर रह सकते हैं। कांग्रेस के एक अन्य सदस्य एंडी हैरिस ने कहा कि अपने धर्म का अनुसरण करना एक मौलिक मानवाधिकार है और मनुष्यों के तौर पर हमें इस अधिकार को साझा करना चाहिए। यह मायने नहीं रखता कि हम दुनिया के किस हिस्से में जीए या हम किस जातीय या धार्मिक समूह से ताल्लुक रखते हैं, हमारे पास शांतिपूर्वक रहने और अपने मौलिक मानवाधिकारों की रक्षा करने का अधिकार है।      

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
× RELATED भारत ने संवैधानिक तौर पर अल्पसंख्यकों को अधिकार दिए हैं : अमरीका