US में सिख अटॉर्नी  पर नस्लीय टिप्पणी करने वाले 5  पुलिस कर्मियों को देना पड़ा इस्तीफा

 न्यूयार्कःअमरीका में न्यूजर्सी के पहले सिख अटॉर्नी जनरल गुरबीर ग्रेवाल पर नस्लीय टिप्पणी करने के आरोप में शुक्रवार को 5 पुलिस कर्मियों को इस्तीफा देना पड़ा। बताया जा रहा है कि पांचों पुलिसकर्मियों की बातचीत रिकॉर्ड हो गई थी, जिसका खुलासा होने के बाद उन्हें सजा मिली। स्थानीय मीडिया ने गुरुवार को एक ऑडियो रिकॉर्डिंग के बारे में जानकारी दी थी, जिसमें न्यू जर्सी के पुलिसकर्मी माइकल सौदिनो अपने अधीनस्थ कर्मचारियों से फिल मर्फी के भाषण पर चर्चा कर रहे थे।

सौदिनो ने कहा, ‘‘मर्फी ने अपने भाषण में हर मुद्दे पर बात की। मारिजुआना चरस और न्याय-व्यवस्था में सुधार के बारे में भी। अश्वेत लोग यहां आते रहेंगे और अपने मनमुताबिक काम करते रहेंगे।’’सौदिनो के मुताबिक, ‘‘मर्फी चाहते हैं कि अश्वेत लोग जो चाहे करें, चरस पीएं, लेकिन कोई इस बारे में चिंता न करे। तुम जानते हो, हमारे हाथ कानून ने बांध रखे हैं।’’ इसके बाद सौदिनो ने कहा, ‘‘मर्फी ने गुरबीर ग्रेवाल को पहला सिख अटॉर्नी जनरल सिर्फ उसके धर्म की वजह से बनाया। गुरबीर ने बर्गन काउंटी की कोई मदद नहीं की, क्योंकि वह पगड़ी पहनते हैं।’’

मामले का खुलासा होने के बाद सैदिनो ने माफी मांगी। उसने अपने बयान में लिखा कि मैं बर्गन काउंटी के लोगों से अपनी टिप्पणी के लिए माफी मांगता हूं। वह बात किसी खास व्यक्ति के लिए नहीं कही गई थी। गवर्नर मर्फी ने कहा कि नस्लीय टिप्पणी और नफरत भरी भाषा का इस्तेमाल करने वाला व्यक्ति सरकारी नौकरी के लिए उपयुक्त नहीं है, चाहे वह कोई भी क्यों न हो।  इस मामले में गुरबीर ग्रेवाल ने ट्विटर पर लिखा, ‘‘अगर वास्तव में यह सौदिनो की आवाज है तो उसे तुरंत इस्तीफा देना चाहिए। गवर्नर के भाषण पर की गई यह टिप्पणी पूरी तरह अनुचित है।’’
 
 
 

Related Stories:

RELATED अमेरिका में अवैध प्रवेश करते 2 भारतीय गिरफ्तार