Upsc Mains 2018 : आखिरी समय में एेसे करें एग्जाम की तैयारी

नई दिल्ली : हर साल न जानें कितने लोग यूपीएससी यानि सिविल सर्विसेज एग्जाम परीक्षा की तैयारी करते है। फिर भी बहुत कम लोग यह परीक्षा पास कर पाते है।सिविल सर्विसेज एग्जाम को भारत की सबसे कठिन परीक्षा माना जाता है।इस बार UPSC मेन्स की परीक्षाएं  28 सितंबर से शुरू होकर 7 अक्टूबर तक चलेगी। जल्द ही उम्मीदवारों के लिए एडमिट कार्ड जारी कर दिए जाएगें। यूरीएससी  ने प्रीलिम्स की परीक्षा 3 जून को आयोजित की थी। इस परीक्षा में करीब 3 लाख उम्मीदवारों ने भाग लिया था। एेसे में अगर आप भी मेंस एग्जाम की तैयारी कर रहे है तो आइए जानते है आखिरी समय में आपको किन बातों का ध्यान रखना चाहिए 

प्‍लान बनाकर करें तैयारी
यूपीएससी की तैयारी के लिए आपके पास डेली स्टडी प्लान होना चाहिए। जरुरी नहीं कि आप सारा दिन बैठ कर पढ़ाई करें , बल्कि जरुरी है कि आप जितना समय भी पढ़ाई कर रहे है प्लान बना कर पूरे मन से पढ़ाई करें।  स्टडी के लिए प्लान तैयार करें कि किस टाइम आप क्या विषय पढ़ेंगे। एक ही विषय को लगातार पढ़ने के चक्कर में आप पढ़ी हुई चीजों को भूल भी सकते हैं, इसीलिए तैयारी करने के लिए एक डेली स्टडी प्लान बना लें और उसके हिसाब से पढ़ाई करें।

अखबार पढ़े
आईएएस परीक्षा पास करने में अखबार आपकी काफी मदद कर सकते है। इसलिए आज से आपको रोज रोज अखबार पढ़ने की आदत डालनी ही चाहिए। मगर इतना ही काफी नहीं है। आपको उन टॉपिक्स की पहचान भी होनी चाहिए, जिन पर आपको ज्यादा फोकस करना है। अखबार पढ़ना शुरू करने से पहले खुद से पूछें कि आपको क्या पढ़ना चाहिए, क्यों पढ़ना चाहिए और कहां पढ़ना चाहिए। इस प्रकार आप वही पढ़ेंगे, जो पढ़ना जरूरी है और रोज-ब-रोज आवश्यक सूचनाएं इकट्ठी करते चलेंगे।

कॉन्सेप्ट क्लियर रखें
आईएएस परीक्षा का सिलेबस बहुत ज्यादा है और किसी विषय की पूरी लंबाई-चौड़ाई नाप डालता है। ऐसे में कई उम्मीदवार तथ्यों को रट लेते हैं, बजाय उनका कॉन्सेप्ट समझने के। यह तरीका बिल्कुल गलत है। हमारी याददाश्त केवल एक सीमित डेटा ही स्टोर कर सकती है। इसलिए यह बहुत जरूरी है कि आप जो भी पढ़ें, उसकी मूल अवधारणा को गहराई से समझें। अगर आप किसी टॉपिक को अच्छी तरह समझ लेंगे, तो उससे जुड़ी तमाम जानकारी अच्छी तरह याद भी रख पाएंगे।

पिछले सालों के पेपर सॉल्व करें
उम्मीदवारों को पिछले सालों के पेपर्स को जरूर सॉल्व करना चाहिए। पिछले 3-4 सालों के यूपीएससी के पेपर्स को सॉल्व करें, इससे आपको ये पता चल जाएगा कि परीक्षा में किस तरह के सवाल आते हैं।

राइटिंग स्किल पर ध्यान दें
कई बार उम्मीदवार केवल पढ़ने पर ही फोकस करते है, लेकिन यह गलत है । शुरू-शुरू में यह रणनीति सही लग सकती है लेकिन आगे चलकर आपको अहसास होगा कि यह गलत है। आईएएस की मेन परीक्षा परंपरागत सब्जेक्टिव टाइप परीक्षा है, जिसमें आपको हाथ से उत्तर लिखने होंगे। इसलिए अगर आप मेन परीक्षा में भी सफल होना चाहते हैं, तो बेहतर होगा कि आप प्रिलिम्स स्तर से ही अपनी राइटिंग स्किल में निखार लाना शुरू कर दें। 

स्वस्थ जीवनशैली
'केवल काम, नहीं आराम' की नीति आईएएस की तैयारी में कारगर नहीं हो सकती। ढेर सारी किताबों के साथ खुदको कमरे में बंद करके आज तक कोई आईएएस परीक्षा क्लियर नहीं कर पाया है। आपको अपने स्वास्थ्य, मनोरंजन तथा सामाजिक जीवन पर भी ध्यान देना चाहिए। योग, ध्यान या फिर रनिंग, स्पोर्ट्स आदि के लिए रोज समय जरूर निकालें। पौष्टिक भोजन और रोज कम से कम 8 घंटे की नींद लें। परिवार के साथ तो समय बिताएं ही, ऐसे दोस्त भी बनाएं जिनके लक्ष्य आपसे मिलते-जुलते हों। इससे आपका फोकस बना रहेगा और आपको प्रेरणा मिलती रहेगी।


 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!