अब UK में आसानी से करें ये पढ़ाई,भारतीय छात्रों के लिए नया फेलोशिप पैकेज

एजुकेशन डेस्कःविदेश में पढ़ाई करने वालों की होड़ लगी हुई और इस बात का फायदा विदेशी कालेजों वाले लेने से नहीं चूकते।  इस कड़ी में भारतीय छात्रों के लिए UK ने नया फेलोशिप पैकेज दिया है। जिस अनुसार भारतीय छात्र और विशेषज्ञ इस बढ़ते क्षेत्र में कौशल अंतराल को पूरा करने के लिए एक प्रमुख सरकारी-उद्योग पैकेज के भाग के रूप में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों पर फैलोशिप और स्थानों के लिए आवेदन कर सकेंगे।


आधिकारिक सूत्रों ने बुधवार को बताया कि £ 110 मिलियन-सरकारी वित्त पोषित पैकेज में कंपनियों द्वारा वित्त पोषित विश्वविद्यालयों में स्नातकोत्तर स्तर पर 200 नए स्थान शामिल हैं। जिनमें कोडिंग उद्योग और ब्रिटिश कंप्यूटर सोसाइटी के सहयोग से डीपमाइंड, क्वांटम बैक, सिस्को, बीएईस्टेम्स और भारतीय आईटी इन्फोसिस आदि प्रमुख हैं।

 

डिजिटल, मीडिया, संस्कृति और खेल विभाग के एक प्रवक्ता ने पुष्टि की कि फेलोशिप और स्थान डिजिटल सचिव जेरेमी राइट और व्यापार सचिव ग्रेग क्लार्क द्वारा घोषित पैकेज के तहत भारत और अन्य गैर-ईयू देशों के छात्रों और विशेषज्ञों के लिए खुला रहेगा। उन्होंने बताया लगभग 1,000 छात्र पूरे यूके में डॉक्टोरल ट्रेनिंग के लिए 16 समर्पित यूके रिसर्च एंड इनोवेशन एआई सेंटर्स पर पीएचडी के लिए दाखिला ले सकेंगे। सूत्रों ने यह भी कहा कि दुनिया भर से सर्वश्रेष्ठ शोध प्रतिभाओं को आकर्षित करने और बनाए रखने के लिए एलन ट्यूरिंग इंस्टीट्यूट के सहयोग से पांच फेलोशिप भी बनाए गए हैं।

 

सूत्रों ने कहा कि छात्रवृत्ति की पहली लहर मध्य-कैरियर और वरिष्ठ एआई शोधकर्ताओं को पांच वर्षों में एक परिवर्तनकारी कार्यक्रम विकसित करने में सक्षम करेगी, जिसमें गणितीय विज्ञान, सांख्यिकीय विज्ञान, कम्प्यूटेशनल विज्ञान और इंजीनियरिंग में एआई अनुप्रयोगों की एक श्रृंखला शामिल है। 

 

विशेष रुचि के अनुसंधान क्षेत्रों के उदाहरण हैं: एआई नैतिकता (निष्पक्षता, व्याख्यात्मकता, गोपनीयता सहित); एआई सुरक्षा (मजबूती, प्रतिकूल शिक्षा, सुरक्षा, नियंत्रण सहित); रोबोटिक्स, दृष्टि, संवेदन और दृश्य; अनिश्चितता के साथ तर्क और स्वायत्त निर्णय लेना। इस क्षेत्र में मल्टी-एजेंट सिस्टम और एजेंट-आधारित मॉडलिंग भी शामिल हैं; 

Related Stories:

RELATED कॉमर्स स्‍ट्रीम का महत्‍वपूर्ण विषय है बिजनेस स्‍टडीज