पाक में होली खेलने वाली हिंदू लड़कियों को जबरन कबूल करवाया इस्लाम

इस्लामाबादःहोली वाले दिन पाकिस्तान में रहने वाली दो हिंदू लड़कियों का अपहरण करके जबरन उनका धर्मांतरण कर मुस्लिम बनाने का मामला सामने आया है। घटना सिंध के घोटकी जिले की बताई जा रही है जिसके बाद हिंदू समुदाय ने बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन किया और अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई किए जाने की मांग की।उन्होंने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को उनका अल्पसंख्यकों के प्रति आश्वासन याद दिलाया।



कराची से पाकिस्तान हिंदू सेवा वेलफेयर ट्रस्ट के अध्यक्ष संजेश धंजा ने बताया कि दो बहनों- 13 साल की रवीना और 15 साल की रीना का कथित तौर पर अपहरण करके शादी के बाद उन्हें इस्लाम कबूल करवा दिया गया । पाकिस्तान ट्रस्ट के मुखिया ने आरोप लगाया है कि अल्पसंख्यक समुदाय के सड़क पर उतरने के बाद भी पुलिस ने केवल एक एफआईआर दर्ज की है। हाल ही में इमरान खान ने ट्वीट कर कहा था, 'जैसा कि भारत में हो रहा है उससे उलट नया पाकिस्तान क्वैद का (जिन्ना) पाकिस्तान है और हम यह सुनिश्चित करेंगे कि हमारे अल्पसंख्यकों को समान नागरिक माना जाए।' इस ट्वीट ने विवाद खड़ा कर दिया था।



गवर्नमेंट पोस्ट ग्रैजुएट कॉलेज में राजनीति विज्ञान के सहायक प्रोफेसर और विभागाध्यक्ष अंजुम जेम्स पॉल ने फेसबुक पर एक पोस्ट करके इमरान से पूछा है, 'अब कौन रीना, रवीना, सदफ खान और ईसाई नाबालिग लड़कियों के लिए खड़ा होगा। जिनका अपहरण करके उनके माता-पिता से छीनकर फरवरी और मार्च में धर्मांतरण करवा दिया गया।' पॉल ने जबरन होने वाले धर्मांतरण और नाबालिग इसाई और हिंदू बच्चियों की शादी को बंद करने पर जोर देते हुए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री को अल्पसंख्यकों के अधिकारों के होते उल्लंघन के खिलाफ खड़े होने को कहा। उन्होंने खान को उनका वादा याद दिलाया।



2018 में चुनाव अभियान के दौरान इमरान ने अल्पसंख्यकों के अधिकारों की रक्षा की बात कही थी। सहायक प्रोफेसर ने कहा, 'नए पाकिस्तान में भी परिस्थितियां वैसी ही हैं और धार्मिक अल्पसंख्यक भेदभाव और उत्पीड़न से पीड़ित हैं।' वहीं धंजा ने कहा कि दो बहनों का उस समय अपहरण किया गया जब वह 20 मार्च को होली खेल रही थीं। इससे पहले 13 साल की इसाई बच्ची का अपहरण करके 6 फरवरी को उसकी शादी करवाकर इस्लाम कबूल करवा लिया गया। दो और हिंदू लड़कियों कोमल और सोनिया का अपहरण करके जबरन धर्मांतरण किया गया।
 

Related Stories:

RELATED लड़कियों के खातों में पैसा डालना मात्र अफवाह