Wrapped Ginger से करें खराब फोफड़ों का इलाज

अदरकका इस्तेमाल रसोई के साथ-साथ बरसों से आयुर्वेदिक दवाइयों में भी हो रहा है। बलगम, फेफड़ों का इंफैक्शन, छाती में जमा कफ आदि सेहत से जुड़ी और भी बहुत-सी परेशानियों को दूर करने में अदरक बहुत फायदेमंद है। घरेलू उपचार में अदरक का रस या फिर इसे ड्राई यानि की सौंठ के रूप में किया जाता है। आयुर्वेदिक उपचार की बात करें तो अदरक को अच्छा दर्द निवारक भी माना गया है और इसे कैप्सुल को तौर पर भी इस्तेमाल किया जाता है। इसके अलावा खांसी,बलगम और फेफड़ों में जमा गाढ़ा चिपचिपा पदार्थ यानि म्यूकस( Mucus) से राहत दिलाने के लिए wrapped ginger थैरेपी बेहद कारगर है। 
 

क्या है Wrapped ginger थैरेपी
अदरक में मौजूद आयरन, कैल्शियम,विटामिन,क्लोरीन और पोषक तत्वों के अलावा एंटीवायरल गुण रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाते हैं। जो लंग इंफैक्शन से छुटकारा दिलाने में बेहद कारगर है। जिंजर रैप्ड थैरेपी में अदरक का सेवन करने से नहीं बल्की इसके पेस्ट को छाती पर लगाकर फायदा मिलता है। जिससे शरीर से विषैले पदार्थ बाहर निकल जाते हैं और रोगों से राहत मिलती है।  


ऐसे करें Wrapped ginger थैरेपी का इस्तेमाल
इसके लिए शहद, अदरक का पाउडर,ऑलिव ऑयल,थोड़ा-सा आटा, नेपकिन और टेप की जरूरत है। सबसे पहले शहद,अदरक पाउडर,ऑलिव ऑयल को मिक्स कर लें। इस पेस्ट को नेपकीन पर डाल कर थोड़ा सी सूखा आटा छिड़क दें और इस तैयार अदरक पेस्ट को छाती पर रखकर टेप लगा दें, ताकि यह आसानी से चिपकी रहे। इस थैरेपी का इस्तेमाल रात के समय करें और 3-4 घंटे इसी तरह लगा रहने दें। इसके बाद इसे उतार दें। यह कफ,खांसी और फेफड़ों के इंफैक्शन से राहत पाने का बैस्ट तरीका है। यह घरेलू उपचार को बच्चों के लिए भी बढ़िया है। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!