CM बिप्लब देब का अजीबो-गरीब बयान, बतखों के तैरने से पानी में बढ़ती है ऑक्सीजन

नई दिल्ली: अपने अजीबो-गरीब बयानों के कारण सुर्खियों में रहने वाले त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब अपने एक और बयान के कारण एक बार फिर चर्चा में आ गए हैं।  बिप्लब ने कहा कि वह पूरे राज्य में ग्रामीणों के बतख बांटना चाहते हैं। बतख बांटने से ग्रामीणों की अर्थव्यवस्था में तेजी आएगी। 

बतखों के तैरने से पानी में बढ़ती है ऑक्सीजन 
इतना ही नहीं बिप्लब ने ये दावा किया है कि बतखों के तैरने से पानी में ऑक्सीजन बढ़ती है। उन्होंने कहा की जब किसी जलाशय में बतख तैरती हैं तो रीसाइक्लिंग की प्रक्रिया होती है और इससे ऑक्सीजन बढ़ता है। सीएम बिप्लब देब ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि आज मैंने घोषणा की है कि 50 हजार देशी बतख आस पास के लोगों को दे दिए जाएंगे। एस जलाशय (नीरमहल झील) में जब 50 हजार सफेद बतख घुमेंगी तो कितना सुंदर लगेगा और उससे ऑक्सीजन भी रिसाइकल होती है।

सीएम पहले भी दे चुके हैं​ विवादित बयान 
इससे पहले बिप्लब देब ने कहा था कि मकैनिकल नहीं बल्कि सिविल इंजिनियर्स को सिविल सर्विसेज जॉइन करनी चाहिए क्योंकि उन्हें समाज के बारे में ज्यादा जानकारी होती है। वहीं कुछ समय पहले उन्‍होंने महाभारत के दौर में इंटरनेट और सैटलाइट होने की बात कही थी। बीते शुक्रवार को सीएम ने मिस वल्र्ड रही डायना हेडेन को इस क्राउन के लिए नाकाबिल बता दिया था। उनके इस बयान की काफी आलोचना हुई थी। 


 

Related Stories:

RELATED शादीशुदा किशोरियों में 32 फीसदी 15-19 साल की उम्र में बनीं मां: रिपोर्ट