TRAI ने टाटा स्काई से मांगी नई शुल्क व्यवस्था के क्रियान्वयन पर स्थिति रिपोर्ट

नई दिल्लीः भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने डायरेक्ट टु होम (डीटीएच) परिचालक टाटा स्काई से नए नियमों के क्रियान्वयन पर स्थिति रिपोर्ट मांगी है। नए नियमों के तहत दर्शक सिर्फ उन चैनलों का चयन कर सकते हैं और भुगतान कर सकते हैं जो वे देखना चाहते हैं। उपभोक्ताओं से मिली गई शिकायतों के बाद ट्राई ने टाटा स्काई से जवाब मांगा है। क्षेत्र के नियामक ने डीटीएच आपरेटर पर उपभोक्ताओं को गुमराह करने का भी आरोप लगाया है। ट्राई ने कहा कि टाटा स्काई ने उपभोक्ताओं को यह गलत जानकारी दी कि नियामक ने नई नियामकीय व्यवस्था के क्रियान्वयन की तारीख बढ़ा दी है।

टाटा स्काई को लिखे पत्र में ट्राई ने कहा कि उसके उपभोक्ताओं से बड़ी संख्या में शिकायतें मिली हैं कि कंपनी ने नई नियामकीय रूपरेखा के तहत अपनी प्रणाली में उपभोक्ताओं को विकल्प का प्रावधान नहीं किया है। इसके अलावा उपभोक्ताओं ने कहा है कि टाटा स्काई का ग्राहक सेवा केंद्र उन्हें यह कहकर गुमराह कर रहा है कि ट्राई ने नई नियामकीय व्यवस्था के क्रियान्वयन की तारीख बढ़ा दी है। ट्राई ने कहा कि यह सूचना पूरी तरह गलत है। ट्राई ने पत्र में कहा कि उसने उपभोक्ताओं को टीवी चैनल चुनने के लिए 31 जनवरी, 2019 तक का समय दिया है, जिससे नए नियामकीय ढांचे की ओर सुगमता से जाया जा सके।

Related Stories:

RELATED पेंशन और ट्राई साइकिल न मिलने से नाराज दिव्यांग