आज ही के दिन हुआ था दुनिया का सबसे बड़े आतंकी हमला, राख हो गया था वर्ल्ड ट्रेड सेंटर, देखें तस्वीरें

वॉशिंगटन:न्यूयॉर्क के वर्ल्ड ट्रेड सेंटर कोन पर आज ही के दिन 11 सितंबर 2001 को हुए आतंकी हमले को 17 साल हो गए हैं। उस हमले की टीस आज भी वहां के लोगों में जिंदा है। भले ही अब वहां सबकुछ बदल चुका है लेकिन वो भयानक लम्हा लोगों को नहीं भूलता।
PunjabKesari
सितंबर 2001 को संयुक्त राज्य अमरीका पर अल-क़ायदा द्वारा समन्वित आत्मघाती हमलों की श्रृंखला थी। आज 9/11 हमले की बरसी है। साल 2001 में अलकायदा के आतंकियों ने आज ही के दिन अमरीका में वर्ल्ड ट्रेड सेंटर,पेंटागन और पेंसिलवेनिया में एक साथ हमले को अंजाम दिया था।
PunjabKesari
आतंकियों ने 4 पैसेंजर एयरक्राफ्ट हाइजैक किए थे,जिसमें 3 प्लेन सही निशाने तक पहुंचे,जबकि चौथा क्रैश हो गया था। अपहरणकर्त्ताओं ने जानबूझकर उनमें से दो विमानों को वर्ल्ड ट्रेड सेंटर, न्यूयॉर्क शहर के ट्विन टावर्स के साथ टकरा दिया, जिससे विमानों पर सवार सभी लोग तथा भवनों के अंदर काम करने वाले अन्य लोग भी मारे गए थे। दोनों भवन दो घंटे के अंदर जमींदोज हो गए थे। इसके साथ ही आसपास की इमारतें भी नष्ट हो गई थीं।
PunjabKesari
इस हमले को 19 आतंकियों ने मिलकर अंजाम दिया था। आतंकियों ने 2 पैसेंजर प्लेन वर्ल्ड ट्रेड सेंटर के टावर में घुसा दिए थे। करीब 1 घंटे 42 मिनट के अंदर ही 110 मंजिल वाली वाली ट्रेड सेंटर की दोनों बिल्डिंग धराशाई हो गईं। इसके बाद तीसरे प्लेन से पेंटागन पर हमला किया गया, जिसमें पेंटागन की बिल्डिंग के वेस्टर्न हिस्से को थोड़ा नुकसान पहुंचा था।
PunjabKesari
वहीं, वॉशिंगटन डीसी की ओर जा रहा चौथा प्लेन पेंसिलवेनिया में स्टोनीक्रीक टाउनशिप में एक मैदान में क्रैश हो गया था। इस हमले में 400 पुलिस अफसरों और फायरफाइटर्स समेत 3000 से ज्यादा लोगों की मौत हुई थी। मरने वालों में 57 देशों के लोग शामिल थे।
PunjabKesari
बता दें कि अलकायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन ने शुरुआत में हमले में हाथ होने से इन्कार किया, लेकिन 2004 में उसने हमले की जिम्मेदारी ले ली। इसके बाद अमरीका ने हमले का बदला लेते हुए 2 मई 2011 को पाकिस्तान के ऐबटाबाद में ओसामा को मार गिराया था।
PunjabKesari

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!