गुरूग्राम: पिछले चार सालों में तीन गुणा बढ़ा महिला अपराध, यहां देंखे रिपोर्ट

गुरूग्राम(सतीश): हरियाणा के सबसे विकसित शहरों की श्रेणी में नंबर वन पर आने वाला गुरूग्राम महिला अपराधों में भी उसी प्रकार की बुलंदियां छू रहा है, जिस प्रकार वह विकास कर रहा है। जिले में महिला अपराध में पिछले चार सालों में तीन गुणा बढ़ोत्तरी हुई है। पिछले चार दिनों में एक दर्जन महिला अपराध के मामले दर्ज हुए हैं। महिला अपराध को रोकने के लिए पुलिस ने मानेसर व सेक्टर 51 में महिला थाना भी खोला है, लेकिन इस तरह से बढ़ रहे अपराध से प्रतीत होता है कि ये केवल नाम मात्र ही रह गए हैं।



आईए चार्ट के माध्यम से जानते हैं कि सन् 2014 से लेकर 2018 तक महिला अपराधों जैसे रेप, पोक्सो, छेड़छाड़, सेक्शुअल हरासमेंट के मामले दर्ज हुए हैं-

  • नोट:- 2018 की रिपोर्ट 31 अगस्त तक की है।


साइबर सिटी गुरुग्राम में महिला अपराध के मामलो में बढ़ोतरी हो रही है। गुरुग्राम पुलिस की लाख कोशिशों के बावजूद भी महिला अपराध के मामलो में कमी नहीं आई है। बल्कि लगातार महिला अपराधों में बढ़ोतरी हो रही हैं। आकड़ो पर नजर डाले तो सबसे ज्यादा मामले छेड़छाड़ और रेप के सामने आए हैं। ऐसे में पुलिस द्वारा गठित की गई रेपिड एक्शन फोर्स व दुर्गा शक्ति की टीम की कार्यशैली पर सवाल उठने लाजमी है।



गुरुग्राम पुलिस की आकड़ों पर गौर करें तो रेप की वारदातों में ज्यादातर लिव इन रिलेशनशिप, शादी का झांसा देकर दुष्कर्म व नौकरी का लालच देकर दुष्कर्म की वारदात सामने आ रही हैं। वहीं छेड़छाड़ के मामले सबसे ज्यादा बाजार, मॉल, कंपनी और चलती सड़क पर ज्यादा घटित होते हैं।

Related Stories:

RELATED गुरूग्राम: पिछले चार सालों में तीन गुणा बढ़ा महिला अपराध, यहां देंखे रिपोर्ट