Kundli Tv- इस मंगलवार इस छोटे से उपाय से होगी हर ख्वाहिश पूरी

ये नहीं देखा तो क्या देखा (देखें VIDEO)
आज मंगलवार दिनांक 21.08.18 को श्रावण शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि पर मंगल चंडिका पूजन किया जाएगा। शास्त्रों के अनुसार सावन में मंगलवार के दिन 'मंगल चंडिका' के पूजन का विधान है। मंगल चंडिका आद्या शक्ति गौरी का ही मंगल स्वरूप हैं। इस स्वरूप में मंगला गौरी अपने भक्तों का शुभ ही करती हैं, गौरी का यह मंगलकारी स्वरूप सिंदूरी आभा लिए हुए है। मंगल चंडिका के स्वरूप का संबंध मंगल ग्रह व स्त्री के अखंड सौभाग्य से है। शास्त्रनुसार 18वीं शक्ति पीठ मंगलगौरी का उद्गमन देवी सती के वक्ष अंग गिरने से हुआ था। सावन शिव-शक्ति के स्वभाविक मिलन का समय है अर्थात जनक का प्रजनन के साथ युग्म होता है। 


धार्मिक मतानुसार सावन में मंगल चंडिका पूजन व व्रत करने से सुहागिनों को अखंड सौभाग्य की प्राप्ति होती है। अत: इस दिन माता मंगला गौरी का पूजन करके मंगल चंडिका की कथा सुनना फलादायी माना गया है। पौराणिक मान्यता के अनुसार सावन में मंगलवार के दिन कंवारीयां भावी वर के लिए व सुहागने सुखी दांपत्य के लिए इस दिन पूजा, उपाय और अनुष्ठान करती हैं। सावन के मंगलवार पर महादेव संग मंगल चंडिका के पूजन, व्रत व उपाय से दांपत्य से अमंगल क्लेश, विवाद व कड़वाहट दूर होता है, अखंड सौभाग्य की प्राप्ति होती है व लव मैरेज में सक्सेस मिलती है। 

स्पेशल पूजन विधि:शिवालय जाकर शिव व गौरी का विधिवत षोडशोपचार पूजन करें। शुद्ध जल से अभिषेक करें, गुग्गुल से धूप करें, चमेली के तेल का दीपक करें, सिंदूर चढ़ाएं, गौरी पर कुमकुम और महादेव पर लाल चंदन चढ़ाएं, देवी को मौली व शंकर पर यज्ञोपवीत चढ़ाएं, वस्त्र, उपवस्त्र, अक्षत, अबीर, गुलाल, मूंग, मसूर, रक्षा, कपूर, घी, दही, दूब, चीनी, पुष्प, पान, सुपारी, रूई, इत्र अर्पित करें तथा गुड़ व आटे से बने हलवे का भोग लगाएं तथा रुद्राक्ष की माला से इस स्पेशल मंत्र का जाप करें। पूजा के बाद भोग व श्रृंगार किसी सुहागन ब्राह्मणी को भेंट करें। 

स्पेशल मंत्र: ह्रीं श्रीं क्लीं सर्व-पूज्ये देवि मंगल-चण्डिके, हूं हूं फट् स्वाहा॥
स्पेशल मुहूर्त: शाम 17:25 से शाम 18:25 तक।

उपाय चमत्कार: 
गुड हेल्थ के लिए:गौरी-शंकर पर चढ़े गुड़ का सेवन करें। 

गुडलक के लिए:गौरी-शंकर पर चढ़ा पीपल का पत्ता अपने पास रखें। 

विवाद टालने के लिए: मंगला गौरी पर चढ़ी जलेबी बच्चों में बांटे।  

नुकसान से बचने के लिए: पीपल के पत्ते पर सिंदूर लगाकर मंगला गौरी पर चढ़ाएं। 

प्रोफेशनल सक्सेस के लिए:देवी मंगला गौरी पर लाल धागा चढ़ाएं। 

एजुकेशन में सक्सेस के लिए:“ॐ गौरी शंकराय नमः” मंत्र का जाप करें। 

बिज़नेस में सफलता के लिए:देवी मंगला गौरी पर चढ़े मसूर के दाने गल्ले में रखें। 

पारिवारिक खुशहाली के लिए: शाम के समय पूजा घर में चमेली के तेल का दीपक करें।

लव लाइफ में सक्सेस के लिए: मंगला गौरी स्तोत्र का पाठ करें। 

मैरिड लाइफ में सक्सेस के लिए:देवी मंगला गौरी पर लाल चुनरी चढ़ाएं।

स्पेशल टोटके 
अखंड सौभाग्य की प्राप्ति के लिए:देवी मंगल चंडिका पर चढ़े सिंदूर का पूरे साल भर प्रयोग करें। 

लव मैरेज में सक्सेस के लिए:पान के पत्ते पर सिंदूर से लवर का नाम लिखकर देवी मंगला पर चढ़ाएं।

अमंगल दूर करने के लिए: कोंहड़ा (पम्पकिन) पर पूरे परिवार का हाथ लगवाकर देवी मंगल चंडिका पर चढ़ाएं।

आचार्य कमल नंदलाल
ईमेल: kamal.nandlal@gmail.com

इस दिशा में भूलकर भी न लगाएं पितरों की तस्वीरें (देखें VIDEO)

Related Stories:

RELATED Kundli Tv- बजरंगबली की ये फोटो बुरी शक्तियों को रखेगी दूर !