नगर निगम की इस कांग्रेस पार्षद ने दिया इस्तीफा, जानिए क्या है वजह

शिमला:नगर निगम के सांगटी वार्ड से कांग्रेसी पार्षद मीरा शर्मा ने इस्तीफा दे दिया है। त्यागपत्र देने के बाद से वार्ड में पार्षद की कुर्सी खाली हो गई है, ऐसे में 6 महीने के भीतर इस वार्ड में दोबारा से उप चुनाव करवाना होगा, तब तक यह सीट खाली रहेगी। नगर निगम के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब जनता की ओर से निर्वाचित पार्षद ने अपने पद से इस्तीफा दिया हो। हालांकि सत्ता परिवर्तन के साथ कई बार मनोनीत पार्षदों ने त्यागपत्र दिया है लेकिन निर्वाचित पार्षदों ने कभी इस्तीफा नहीं दिया है, ऐसा पहली बार हुआ है। वहीं मीरा के इस्तीफे से कांग्रेसी खेमे में भी हलचल मच गई है। कांग्रेस को मीरा ने जोर का झटका दिया है।

आयुक्त ने मंजूर किया इस्तीफा
पार्षद मीरा शर्मा ने नगर निगम आयुक्त को अपना त्यागपत्र सौंप दिया है जिसे आयुक्त ने मंजूर कर लिया है। मीरा शर्मा के त्यागपत्र देने के बाद से राजधानी शिमला में राजनीतिक सरगर्मियां भी तेज हो गई हैं, वहीं राजनीतिक पार्टियां भी अब नए चहेरे की तलाश में जुट गई हैं। कांग्रेस, भाजपा व माकपा तीनों ही राजनीतिक दल कांग्रेस के इस वार्ड से अपने प्रत्याशियों को खोजने में जुट गए हैं, वहीं भाजपा सांगटी की खाली हुई इस सीट पर अपना कब्जा जमाने की रणनीति बनाने में जुट गई है। इस वार्ड से आगामी 4 सालों के लिए नया पार्षद का चुनाव किया जाएगा ताकि वार्ड का प्रतिनिधित्व किया जा सके, चुनाव न होने तक यह सीट खाली रहेगी। वहीं मीरा के इस्तीफे से सदन में कांग्रेसी पार्षदों की संख्या अब महज 12 रह गई है।

नौकरी के चलते दिया इस्तीफा
सूत्रों की मानें तो सांगटी वार्ड की पार्षद मीरा शर्मा का इस्तीफा देने का कारण उनकी नौकरी बताया जा रहा है। हालांकि पार्षद ने इससे इंकार किया है। उन्होंने पारिवारिक कारणों के चलते त्यागपत्र देने की बात कही है लेकिन पुख्ता सूत्रों की मानें तो मीरा शर्मा को एक महकमे में नौकरी मिल गई है, जिसके चलते उन्होंने पार्षद पद से इस्तीफा दिया है।

822 मतों के साथ जीत कर आई थीं मीरा
सांगटी वार्ड से मीरा शर्मा कांग्रेस के टिकट पर जीत कर आई थीं। मीरा को 822 वोट मिले थे। वार्ड में कुल मतदान 1837 हुआ था जबकि भाजपा की प्रत्याशी रही निशा वर्मा को 551 वोट पड़े थे, ऐसे में मीरा के इस्तीफा देने के चलते अब वार्ड में दोबारा से उप चुनाव होगा। सांगटी वार्ड में 3 महिलाओं के बीच चुनावी मुकाबला हुआ था।

क्या कहती हैं मीरा शर्मा
सांगटी वार्ड से पार्षद रहीं मीरा शर्मा का कहना है कि अपनी निजी कारणों के चलते पार्षद पद से इस्तीफा दिया है। उन्होंने कहा कि हर समय जनता के कार्यों को लेकर व्यस्त रहने से वह परिवार को उचित समय नहीं दे पा रही हैं, ऐसे में पारिवारिक कारणों के कारण त्यागपत्र दिया गया है। हालांकि पिछले एक साल में वार्ड में करीबन 1 करोड़ रुपए के कार्य हुए हैं। मीरा शर्मा ने कहा कि जितना हो सका जनता के लिए काम करने की  कोशिश की है। उन्होंने वार्ड की जनता से मिले प्यार व स्नेह के लिए जनता का आभार व्यक्त किया है।

क्या कहते हैं आयुक्त
नगर निगम शिमला के आयुक्त पंकज राय का कहना है कि सांगटी वार्ड की पार्षद मीरा शर्मा ने त्यागपत्र दिया है जिसे मंजूर कर लिया गया है। उपचुनाव होने तक पार्षद की कुर्सी खाली रहेगी। 6 महीनों के भीतर चुनाव करवाएं जाएंगे।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!