Kundli Tv- जाने-अनजाने में की गई ये गलतियां, जीवन को कर देती हैं बर्बाद

ये नहीं देखा तो क्या देखा (देखें Video)
ज्योतिष शास्त्र की मानें तो कुछ इंसान में एेसी आदतें होती है, जिसके कारण ग्रहों का अशुभ असर बढ़ता है। उदाहरण के लिए जैसे कुछ लोग फालतू पानी बहाते हैं, जिसका असर कुंडली में मौज़ूद चंद्र ग्रह पर पड़ता है। माना जाता है कि जो जातक पानी का दुरुपयोग करता है उसकी कुंडली में चंद्र से संबंधित दोष पैदा हो जाते हैं। जिस कारण जातक को कई परेशानियों से जूझना पड़ता है। तो आइए आज आपको बताते हैं इसके अलावा एेसी कौन सी आदतें होती है जिनकी वजह से कुंडली में मौज़ूद ग्रहों की स्थिति खराब हो जाती है।


कुछ लोगों की खाना झूठा छोड़ने की आदत होती है। लेकिन इससे मंगल और शुक्र दोनों का अशुभ असर बढ़ता है। इसी वजह से कुछ लोगों के घरों में विवाद होते हैं और पैसा नहीं टिकता। इस तरह कई आदतों में बदलाव किया जाए तो ग्रहों के अशुभ असर से बचा जा सकता है। 

पैर हिलाना
कुछ लोगों को बैठे-बैठे पैर हिलाने की आदत होती हैं या जैसे ही व्यक्ति बैठता हैं उसके पैर हिलने लगते है। ज्योतिष के अनुसार जो व्यक्ति ऐसा करता हैं उसकी कुंडली में बुध और शनि दोनों का अशुभ होने लगते हैं। इस प्रकार की समस्या के समाधान के रुप में शनिवार को पीपल में जल चढ़ाएं और बुधवार को गाय को मूंग खिलाएं।

खुज़लाने की आदत
खुजली एक स्वाभाविक क्रिया है लेकिन कुछ लोगों को इसकी आदत होने लगती है। जो लोग सामान्य से ज्यादा शरीर में खुजली करते रहते हैं। कभी बालों में कभी शरीर में खुजली करते रहते हैं। ऐसे लोगों पर केतु का अशुभ असर बढ़ने लगता है। इससे बचने के लिए सुबह-शाम काले कुत्ते को रोटी खिलाएं। 

हिलते रहना
देखा गया हैं कि कुछ लोग बात करते वक्त फालतू ही हिलते रहते हैं। ऐसे लोग आदतवश एक जैसे खड़े होकर या बैठकर बात नहीं कर पाते। इस तरह के लोगों की स्मरण शक्ति भी कमजोर होती हैं। इन व्यक्तियों को बहुत पसीना भी आता है। ऐसी आदत की वजह से गुरु और बुध दोनों ही अशुभ प्रभाव देने लगते हैं। इससे बचने के लिए गणेश मंदिर में कांसे का बर्तन या मूंग के लड्डू चढ़ाएं। 

बिना मांगे राय देना
कुछ लोगों की आदत होती हैं कि वे बेवजह दूसरों की बातों में अपनी राय देने लगते हैं। इस वजह से ये लोग न चाहते हुए भी दूसरों काे परेशान कर देते हैं और खुद भी परेशान होते हैं। बृहस्पति के अशुभ प्रभाव से ऐसा होता है। इससे बचने के लिए इस आदत को बदलने की काेशिश करनी चाहिए। वहीं किसी मंदिर में हल्दी, चंदन या केसर का दान करने से बृहस्पति का अशुभ असर खत्म होता है। 

बार-बार खाना या जल्दी भूख लगना
कुछ लोगों में बार-बार कुछ न कुछ खाने की आदत होती है। ये ठीक नहीं है। ऐसा करने से सूर्य का दोष बढ़ने लगता है और सूर्य का अशुभ असर बढ़ता है। जिसके प्रभाव से अधिकारियों या प्रशासनिक कामों में रुकावटें आती हैं। सूर्य के अशुभ प्रभाव आसपास और साथ काम करने वाले लोगों से विवाद होने लगते हैं। इससे बचने के लिए सूर्योदय से पहले उठना चाहिए और रोज सूर्य को जल चढ़ाना चाहिए।
बजरंगबली की ये फोटो बुरी शक्तियों को रखेगी दूर ! (देखें Video)

Related Stories:

RELATED Kundli Tv- कुंडली से आपके शारीरिक दर्द का क्या है CONNECTION