सबसे बड़े समुद्री सफाई अभियान की शुरुआत, 88 हजार टन प्लास्टिक का कचरा किया जाएगा साफ

सानफ्रांसिस्को: अमरीका के समुद्र में फैले 88 हजार टन प्लास्टिक के कचरे को साफ करने के लिए ओशीन क्लीनअप सिस्टम 001 मिशन के ट्रायल की शुरूआत हो गई है। यह शुरूआत सानफ्रांसिस्को से करीब 260 मील की दूरी पर समुद्र में शुरू की गई है। समुद्र के जिस कचरे को साफ करने का ट्रायल शुरू हुआ है उसे ग्रेट पैसीफिक गार्बेज पैच के नाम से जाना जाता है। 


इस अभियान की शुरुआत करने वाले हैं मूल रूप से डच बोयान स्लाट। उन्होंने संस्था की शुरुआत उन्होंने 18 साल की उम्र में की थी  बोयान बताते हैं कि 8 साल पहले वह जब 16 साल के थे तब उन्होंने समुद्र मार्ग  से ग्रीस की यात्रा की थी। उन्होंने कहा, ग्रीस जाने के रास्ते में मुझे मछलियों से ज्यादा तो प्लास्टिक पानी में नजर आ रहा था और यह मेरे लिए बहुत दुखद था। पिछले 8 साल से मैं इस पर काम कर रहा हूं कि समुद्र से अधिक से अधिक प्लास्टिक कैसे निकाला जा सके। 

कैसे होगा कचरा साफ

  • ट्रायल के दौरान समुद्र में चलने वाली हवा की मदद ली जाएगी।
  • कचरा साफ करने के लिए ऐसी योजना बनाई गई है जिसमें एक 10 फुट लंबी स्कर्टनुमा कपड़े से प्लास्टिक के छोटे से छोटे कणों को भी उठाया जाएगा।
  • इन्हें किनारेपर लेजाकर रिसाइकिल करने की कोशिश की जाएगी।
  • दो हप्ते के इस  ट्रायल की लगातार निगरानी की जाएगी और ट्रायल की सफलता के बाद इसे समुद्र में 900 नाटीकल माइल में स्थित गार्बेज के मुख्य पैच में शुरू किया जाएगा।
  • इस आप्रेशन दौरान पैच की सफाई की जाएगी और इस दौरान ऐसी तकनीक का विकास किया जाएगा जिससे मानवीय दख्ल के बिना भी सफाई का काम लगातार जारी रह सके।


एक अनुमान के मुताबिक समुद्र में इस समय 165 मिलीयन टन प्लास्टिक है लेकिन 2050 तक समुद्र में मछलियों की तुलना में ज्यादा प्लास्टिक बढऩे का अनुमान है। इस नए मिशन के तहत हर साल 55 टन प्लास्टिक ही निकाला जा सकेगा लिहाजा समुद्र में फैले 88 हजार टन प्लास्टिक को निकालना एक बड़ी चुनौती है क्योंकि हर साल 9 मिलीयन टन प्लास्टिक समुद्र में फैका जा रहा है। लेकिन इस मिशन की सफलता के बाद इस तरह के 60 सिस्टम और तैयार किए जाएंगे जो आने वाले 5 साल में इस पैच में फैले कचरे का 50 फीसदी प्लास्टिक का कचरा साफ कर देंगे। 

Related Stories:

RELATED INS अरिहंत की तैनाती ने उड़ाई पाकिस्तान की नींद