बैंक भेज रहा डिफॉल्टरों को वॉट्सऐप पर मैसेज, अनदेखा करना पड़ेगा महंगा!

नई दिल्लीः बॉम्बे हाई कोर्ट के एक फैसले के बाद बैंक अपने डिफॉल्टर को नोटिस भेजने के लिए वॉट्सऐप और ई-मेल का इस्तेमाल करने पर जोर दे रहे हैं। एचडीएफसी बैंक अपने कर्जदारों और डिफॉल्टरों को वॉट्सऐप पर मैसेज भेज रहा है।

हो सकती है कानूनी कार्रवाई 
वॉट्सऐप के माध्यम से संदेश भेजने में समय नहीं लगता है साथ ही इस बात की तुरंत पुष्टि हो जाती है कि ग्राहक को संदेश मिल गया है। अगर आपको वॉट्सऐप या ई-मेल पर बैंक से समन मिलता है और आप उसे गंभीरता से नहीं लेते हैं तो कानूनी कार्रवाई का सामना करना पड़ सकता है। 

अधिकारियों के मुताबिक एचडीएफसी ने पिछले 2 महीने में 214 लोगों को वॉट्सऐप और ई-मेल के माध्यम से समन भेजा है। ये समन कोर्ट के जरिए तमिलनाडु, पंजाब, गुजरात, हरियाणा, पश्चिम बंगाल, राजस्थान, असम, उत्तर प्रदेश और अन्य प्रदेशों में भेजे गए हैं। इनमें से ज्यादातर चेक बाउंस के केस हैं। बैंक के अधिकारियों का कहना है कि यह तरीका काफी उपयोगी है। उन्होंने कहा कि कार्रवाई में देरी इसलिए होती थी क्योंकि ग्राहक समन को प्राप्त करने से ही इनकार कर देते थे।

बॉम्बे हाई कोर्ट का फैसला 
हाई कोर्ट ने जून में कहा था कि बैंक अपनी लीगल नोटिस वॉट्सऐप के जरिए भी भेज सकते हैं। एसबीआई कार्ड्स और पेमेंट सर्विस और रोहिदास जाधव के बीच चल रहे केस में यह फैसला सुनाया गया था। एस.बी.आई. के पास जाधव का मोबाइल नंबर था इसलिए बैंक ने उन्हें वॉट्सऐप पर अगली सुनवाई की सूचना भेजी थी। कोर्ट ने कहा था कि मैसेज न केवल डिलिवर हुआ बल्कि उसे खोला भी गया। इसलिए इनकार नहीं किया जा सकता कि समन की जानकारी नहीं पहुंची। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!