भारत में पैदा हुआ पहला पेंग्विन, Video आया सामने

नेशनल डेस्क: मुंबई के वीरमाता ज‍ीजाबाई भोसले उद्यान एवं च‍िड़‍ियाघर में नया मेहमान आया है। स्‍वतंत्रता द‍िवस के मौके पर देश की पहली पेंग्विन का जन्म हुआ जिसका नाम फ्रीडम बेबी रखा गया। इसे तीन महीने तक विशेषज्ञों की निगरानी में रखा जाएगा। दो साल पहले थाईलैंड से आठ हम्बोल्ट पेंग्विन यहां लाईं गई थीं। इनमें तीन नर और पांच मादा थीं। इन्हें यहां लाने में करीब ढाई करोड़ रुपए खर्च किए गए थे।


जू के न‍िदेशक संजय त्र‍िपाठी ने बताया कि पैदा हुई पेंग्‍व‍िन ऐक्‍ट‍िव है और उसकी मां उसे भोजन ख‍िलाने की कोश‍िश भी कर रही है। बता दें कि थाईलैंड से लाए गए एक हम्बोल्ट पेंग्विन ने 5 जुलाई में अंडा दिया था। 40 दिन से ये जोड़ा इस अंडे की देखभाल कर रहा था।



हालांकि विशेषज्ञों को इस बात का डर था कि कहीं इस अंडे के अंदर भ्रूण बना ही न हो। कई बार अगर अंडा निशेचित नहीं होता है तो उसके अंदर भ्रूण नहीं होता है लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ और पेंगुइन का जन्म हो गया। अधिकारी ने इस चूजे का एक वीडियो भी जारी किया है जो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो र​हा हैै। 

बता दें कि हम्बोल्ट पेंग्विन को जू में लाए जाने पर कई सामाज‍िक कार्यकर्ताओं ने इसका व‍िरोध क‍िया था। उनका तर्क था क‍ि हम्‍बोल्‍ट पेंग्‍व‍िन के ल‍िए जू की जलवायु उपयुक्‍त नहीं है। इसके बाद च‍िड़‍ियाघर ने पेंग्विन को रखने के ल‍िए खास इंतजाम क‍िए थे। पेंग्‍व‍िन के वास स्‍थल को अनुकूल बनाने के ल‍िए वहां एसी का प्रबंध क‍िया गया था। इन पेंग्‍व‍िन को थाईलैंड से मंगाया गया था, जिसमें लगभग 2.50 करोड़ रुपये खर्च हुए थे। 
 

 

Related Stories:

RELATED जब पर्यटकों को मारने के लिए दौड़ी बाघिन, देखें खौफनाक वीडियो