EPFO की हाउसिंग स्‍कीम आम चुनाव से पहले हो सकती है शुरू, जानिए क्या होंगी शर्तें?

नई दिल्लीः हर कोई चाहता है कि उसका अपना घर हो लेकिन आर्थिक संकट कई बार आपके सपनों के आड़े आ जाता है। एंप्लॉयीज प्रविडेंट फंड ऑर्गनाइजेशन (ईपीएफओ) के खाता धारकों के लिए अच्छी खबर है। ईपीएफओ ने अकाउंट होल्डर्स के लिए हाउसिंग स्कीम का ड्राफ्ट तैयार कर लिया है। इस ड्राफ्ट को सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टी (सीबीटी) की दिसंबर में होने वाली बैठक में पेश किया जाएगा। वहां से मंजूरी मिलने पर ईपीएफओ मेंबर्स के लिए हाउसिंग प्रॉजेक्ट पर काम शुरू हो जाएगा।

लोकसभा चुनाव से पहले लॉन्चिंग 
उम्मीद है कि लोकसभा चुनावों से पहले इस हाउसिंग प्रॉजेक्ट योजना को लॉन्च किया जाएगा। ईपीएफओ के सदस्य विरजेश उपाध्याय ने बताया कि ईपीएफओ अपने मेंबर्स के लिए हाउसिंग स्कीम को सस्ते दामों में उपलब्ध कराना चाहता है। निश्चित रूप से इस स्कीम में कुछ शर्तें भी जुड़ी हुई होंगी। हम सरकार के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। 

कैसे मिलेगा आशियाना? 
ईपीएफओ के ड्राफ्ट के मुताबिक नैशनल हाउसिंग असोसिएशन बनाया जाएगा। यह सभी राज्यों में भूमि अधिग्रहण का काम करेगा, जिस पर हाउसिंग प्रॉजेक्ट बनेंगे। राज्यों से जमीन की खरीददारी सस्ते दामों पर की जाएगी। इसके बाद बिल्डर्स कंपनियों से बातचीत होगी, जो हाउसिंग प्रॉजेक्ट का निर्माण करेंगे। ईपीएफओ घर खरीदने के लिए लोन भी देगा, मगर तय शर्तों के आधार पर। सबसे अहम यह बात है कि इसमें मुनाफा कमाने की कोशिश नहीं होगी। जितनी लागत आएगी, उसके अनुसार आशियाने की कीमत तय की जाएगी। 

कुछ शर्तें भी 
ईपीएफओ के वे मेंबर्स ही इस स्कीम के तहत मकान ले पाएंगे, जिनके पास अपना मकान नहीं है यानी जिन्होंने अपने नाम से अभी तक कोई मकान नहीं खरीदा है। इसके लिए ईपीएफओ सदस्य का ईपीएफ खाता कम-से-कम 3 साल पुराना होना चाहिए। साथ ही घर खरीदने के लिए पीएफ खाते से 90 प्रतिशत की राशि निकालने की छूट मिलेगी। जो राशि लोन ली जाएगी, उसकी ईएमआई भी पीएफ खाते के जरिए चुकाई जा सकती है। 

Related Stories:

RELATED सैक्टर-53 की हाऊसिंग स्कीम के लिए करना होगा और इंतजार